बीजेपी के नेता कैलाश विजयवर्गीय, तेजस्वी सूर्या और दिलीप घोष पर हुई FIR

0
730
Kailash Vijayvargiya,
Kailash Vijayvargiya,

कोलकता | पश्चिम बंगाल पुलिस ने बुधवार को कैलाश विजयवर्गीय, तेजस्वी सूर्या, दिलीप घोष समेत कई बीजेपी नेताओं के खिलाफ FIR दर्ज की है और आरोप लगाया है कि ‘उन्होंने 7 दिसंबर को सिलिगुड़ी में पार्टी के उत्तर कन्या अभियान के दौरान हिंसा को बढ़ावा दिया था।’सिलीगुड़ी मेट्रोपोलिटन पुलिस के न्यू जलपाईगुड़ी पुलिस स्टेशन में बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव और राज्य पर्यवेक्षक कैलाश विजयवर्गीय, सांसद और बीजेपी युवा मोर्चा के अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या और प्रदेश के पार्टी प्रमुख दिलीप घोष के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

 

 

पुलिस ने सौमित्र खान, शायंतन बोस, सुकांता मजूमदार, निशीथ प्रमाणिक, राजू बिस्टा, जॉन बरेला, खोगन मुर्मू, सांकू देब पांडा और प्रवीण अग्रवाल और अन्य के खिलाफ भी केस दर्ज किया है।पुलिस ने आरोप लगाया कि ‘इन लोगों ने पार्टी कार्यकर्ताओं को हिंसा पैदा करने, कानून व्यवस्था तोड़ने, पुलिस के साथ झड़प और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के लिए प्रोत्साहित किया था। 

 
 
बता दें कि राज्य में टीएमसी सरकार के “कुशासन” के विरोध में सैकड़ों बीजेपी कार्यकर्ता और समर्थक सोमवार को राज्य सरकार के शाखा सचिवालय में प्रदर्शन करने जा रहे थे जब पुलिस ने उन्हें रोक दिया। इसके बाद, भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) के नेताओं और बीजेपी कार्यकर्ताओं की पुलिस के साथ झड़प हो गई। इस दौरान, बीजेपी के एक कार्यकर्ता उलेन रॉय की मौत हो गई थी जिसे लेकर बीजेपी और ममता बनर्जी की सरकार आपस में भिड़ गई है। 
बीजेपी का आरोप है कि ‘पुलिस की गोली से उलेन रॉय की मौत हुई है’, हालांकि, पुलिस ने इन आरोपों को खारिज कर दिया।बंगाल पुलिस ने एक ट्वीट में कहा- “पोस्टमार्टम के अनुसार, रिपोर्ट में मौत शॉट गन की चोटों के प्रभाव के कारण हुई है। पुलिस शॉट गन नहीं चलाती। यह स्पष्ट है कि सिलिगुड़ी में कल के विरोध के दौरान, सशस्त्र व्यक्तियों को लाया गया था और उन्होंने गोलाबारी की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here