कोरोना परीक्षणों का लक्ष्य पूरा करने के लिए मथुरा में डॉ ने लिए खुद के कोरोना सैंपल

0
135
Corona
Corona

उत्तर प्रदेश। उत्तर प्रदेश के मथुरा (Mathura) में एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है, जिसमें एक डॉक्टर ने Corona परीक्षणों का लक्ष्य पूरा करने के लिए 15 से ज्यादा बार अपना ही नूमना दे दिया। ऐसा करते हुए डॉक्टर का वीडियो क्लिप सोशल मीडिया (Social Media) पर जमकर वायरल हो रहा है। यह वीडियो रविवार को सामने आया, जिसमें बलदेव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक स्वास्थ्य कार्यकर्ता को राजकुमार सारस्वत के नमूने लेते देखा जा सकता है। फिर इन नमूनों को परीक्षण के लिए नकली नामों पर सीएमओ कार्यालय (CMO Office) भेजा गया।

वीडियो में सारस्वत खुद स्वीकार भी करता है कि वह इसलिए अपने नमूने दे रहा है। क्योंकि इकट्ठा किए गए नमूनों की संख्या मुख्य चिकित्सा अधिकारी (CMO) कार्यालय द्वारा निर्धारित किए गए लक्ष्य से कम है। हालांकि इस दौरान एक स्वास्थ कार्यकर्ता उसे सलाह भी देता है कि वह अपने इतने सारे परीक्षण न कराए, क्योंकि ऐसा करने से वह मुसीबत में फंस सकता है।

स्वास्थ्य केंद्र के अन्य डॉक्टर ने सीएमओ से की शिकायत

इसी सामुदायिक केंद्र के एक अन्य डॉक्टर अमित ने इस मामले में सीएमओ से शिकायत की। अमित ने बताया कि उन्हें 27 जुलाई को कोविड-19 (Covid-19) के नमूने लेने का काम सौंपा गया था। उन्होंने आरोप लगाया कि सीएचसी प्रभारी योगेंद्र सिंह राणा ने उन सभी संविदा कर्मचारियों पर दबाव बनाया कि यदि मरीज नमूना देने केन्द्र पर नहीं आ रहे तो वे फर्जी नमूने लें। क्योंकि नमूनों का लक्ष्य पूरा न होने पर उनका कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर दिया जाएगा।

इतना ही नहीं अमित ने यह भी कहा है कि होम आइसोलेट (Home Isolation) हुए कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) रोगियों के हस्ताक्षर भी नकली हैं। अतिरिक्त सीएमओ राजीव गुप्ता ने कहा है, “इस मामले की जांच की जा रही है। स्वास्थ्य अधिकारी यदि दोषी पाया जाएगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here