मुरैना में रेत माफिया ने महिला SDO पर किया हमला ,पुलिस पर लगाया ये बड़ा आरोप

0
320

मुरैना। बता दें कि चंबल में रेत माफिया का आतंक इस तरह फल फूल रहा है कि आए दिन वन विभाग की टीम पर हमला करने से नहीं चूक रहे हैं। बीते वन विभाग व एसएएफ की टीम पर रेत माफियाओं के झुंड ने हमला कर दिया और अवैध रेत की ट्रैक्टर ट्रॉली को छीन कर ले गए हैं। ,वन विभाग की टीम पर फायरिंग कर लाठियों और पत्थरों से हुए हमले में एसएएफ का एक जवान घायल हो गया है, देर रात यह घटना देवगढ़ थाना क्षेत्र से 1 किलोमीटर दूर ल्होरी के पुरा गांव में हुई है।

वन विभाग की एसडीओ श्रद्धा पांढरे अपनी टीम के साथ रात्रि गश्त पर निकली थी। वन विभाग की टीम ने पठानपुरा गांव के पास अवैध रेत की एक ट्रैक्टर ट्रॉली को पकड़ा, ट्रैक्टर ट्रॉली को लेकर वन विभाग के कर्मचारी देवगढ़ थाने की तरफ जा रहे थे, तभी लहोरी के पुरा गांव के पास 1 सैकड़ा से ज्यादा रेत माफिया ने सड़क पर झाड़ियां और पत्थर रखकर रास्ता रोक लिया, इसके बाद ट्रैक्टर ले जा रहे वनकर्मियों पर हमला करके रेत से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली छीन ली।

इसी दौरान पीछे बोलेरो गाड़ी में आ रही एसडीओ श्रद्धा पांढरे की गाड़ी को घेरकर रेत माफियाओं ने फायरिंग कर लाठियों और पत्थरों से हमला किया। इस हमले में एसएएफ जवान मुकेश सेन घायल हो गया है। हमला करने के बाद वन विभाग के कब्जे में आई रेत की ट्रैक्टर ट्रॉली को माफिया का झुंड छीनकर ले गया है। एसडीओ पांढरे का कहना है कि उन्होंने तत्काल सूचना देवगढ़ के थाना प्रभारी को दी थी, लेकिन 1 घंटे बाद भी महज 1 किलोमीटर दूर से कोई पुलिसकर्मी नहीं आया, इतना ही नहीं हमले के बाद भी देवगढ़ थाना प्रभारी ने उनकी कोई पूछ परख भी नहीं की है। एसडीओ ने इस मामले की शिकायत वरिष्ठ अफसरों से करने की बात कही है। बता दें कि दो महीने में SDO श्रद्धा पांढरे पर 8 बार  हमले हो चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here