अनिल अंबानी के स्वामित्व वाले बिजनेस न्यूज चैनल BTVI के नए मालिक नहीं मीडिया इंडस्ट्री से, जानिए क्यों

0
81
Anil Ambani

देश। अनिल अंबानी (Anil Ambani) के स्वामित्व वाले बिजनेस न्यूज चैनल ‘बीटीवीआई’ (BTVI) के नए स्वामित्व को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है। खबर यह है कि चैनल को कथित तौर पर नया मालिक मिल गया है। मुंबई से संचालित इस बिजनेस न्यूज चैनल ने 31 अगस्त 2019 रात 12 बजे से अपना संचालन बंद कर दिया था। बताया जाता है कि अब इसे खरीदने के लिए टीएनपी (TNP Group) ग्रुप ने समझौता पत्र (MOU) पर हस्ताक्षर किए हैं। टीएनपी ग्रुप के प्रमोटर्स का कहना है कि डील अभी पूरी तरह परवान नहीं चढ़ी है और इसकी प्रक्रिया जारी है। इस चैनल में अब टीएनपी ग्रुप की 100 प्रतिशत इक्विटी है। BTVI का हिस्सा रहे वैभव तिवारी को कंपनी का सीओओ बनाया गया है।

ये भी पढ़े : आज गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा कोरोना वैक्सीन का लगवाएंगे ट्रायल टीका

चैनल के नए मालिक मीडिया इंडस्ट्री से नहीं हैं

टीएनपी समूह दिल्ली-एनसीआर की कृषि-आधारित खाद्य प्रसंस्करण कंपनी है, जो इंफ्रास्ट्रक्चर और कंसल्टेंसी सर्विसेज का काम भी देखती है। नाम न छापने की शर्त पर कंपनी के एक प्रमोटर्स ने हमारी सहयोगी वेबसाइट ‘एक्सचेंज4मीडिया’ (exchange4media)  को बताया, ‘हम हमेशा कमजोर (sick) इकाइयों की तलाश में रहते हैं। हम इस तरह के बिजनेस को या तो नीलामी के माध्यम से खरीदते हैं, या इनके लिए निवेशक तलाशते हैं, या फिर  बिजनेस की प्रवृत्ति के अनुसार इन्हें अपने पोर्टफोलियो में शामिल कर लेते हैं। हमने चैनल को अपने नियम व शर्तों पर खरीदने के लिए एक आशय पत्र यानी लेटर ऑफ इंटेंट (letter of intent) दिया है।’

ये भी पढ़े : मप्र में बड़ा सियासी फैसला, राज्यपाल आज आ रहीं भोपाल, CM से मिल सकते हैं प्रदेशाध्यक्ष

BTVI जल्दी ही दोबारा हो सकता है शुरू

अब यह सवाल उठ रहा है कि क्या BTVI जल्दी ही किसी भी समय दोबारा शुरू हो सकता है?  हालांकि, बिजनेस को चलाने के लिए निवेशकों के पास पर्याप्त फंड है। लेकिन यह निर्णय पूरी तरह से चैनल को पुनर्जीवित करने की वित्तीय व्यवहार्यता पर निहित है, जिसमें पिछले सभी ऋणों का भुगतान करने के साथ ही मीडिया लाइसेंस प्राप्त करना शामिल है। टीएनपी समूह के एक प्रमोटर का कहना है, ‘हम कंपनी को बनाए रखेंगे और चैनल को तभी चलाएंगे जब डील की कीमत मीडिया लाइसेंस हासिल करने की कीमत से कम होगी।’

प्रमोटर का कहना है कि कोर टीम में दो-तीन को छोड़कर सभी पूर्व एम्प्लॉयीज को फुल और फाइनल पेमेंट कर दिया गया है। प्रमोटर के अनुसार, ‘हम BTVI की शेष टीम के साथ मिलकर काम कर रहे हैं, हम कंपनी के सभी लेन-देन की जांच कर रहे हैं, जब से इसे ‘ब्लूमबर्ग’ (Bloomberg) से लिया गया था।’

ये भी पढ़े : कॉलेजों में आपने भी नहीं जमा किया है ये डॉक्यूमेंट्स तो जल्द , शिक्षा विभाग ने किए निर्देश जारी 

आर्थिक संघर्षों से जूझने पर 2019 में अपना प्रसारण रोकने की थी घोषणा

यह रिपोर्ट 15 जनवरी 2021 तक तैयार होने की संभावना है। इसके बाद अगले कदम के बारे में निर्णय लिया जाएगा। हालांकि, मामले से जुड़े नजदीकी सूत्रों का कहना है कि इस मूल्यांकन का आरंभिक सार पहले ही तैयार कर लिया गया है। इस सार के अनुसार, लेनदारों के बिलों में तमाम विसंगतियां हैं। बता दें कि लंबे समय से आर्थिक संघर्षों से जूझने के बाद एक सितंबर 2019 को न्यूज चैनल ने सोशल मीडिया पर अपना प्रसारण रोकने की घोषणा की थी। BTVI का सफर शुरुआत से ही उतार-चढ़ाव भरा रहा है।

ये भी पढ़े : मुख्यमंत्री शिवराज आवास पर चल रही मीटिंग खत्म प्रदेश , अध्यक्ष VD शर्म ने कही यह बात 

अनिल अंबानी (Anil Ambani) ग्रुप द्वारा अगस्त 2016 में BTVI के नाम से किया था री-लॉन्च

चैनल को अनिल अंबानी (Anil Ambani) ग्रुप द्वारा अगस्त 2016 में BTVI के नाम से री-लॉन्च किया गया था। इससे पहले यह चैनल ब्लूमबर्ग टीवी मीडिया के नाम से करीब 10 साल से ऑनएयर था। यह री-लॉन्च इसलिए हुआ था, क्योंकि ब्लूमबर्ग इससे बाहर चला गया था और उसे राघव बहल की ‘क्विंटिलियन मीडिया’ (Quintillion Media) के रूप में एक नया पार्टनर मिल गया था। उन्होंने ‘ब्लूमबर्गक्विंट’ (Bloomberg Quint) के नाम से डिजिटल विडियो न्यूज प्लेटफॉर्म लॉन्च किया था, जिसे वे टीवी चैनल में बदलना चाहते थे। वह सपना भी कानूनी लड़ाई में फंस गया है।

चैनल को बंद करने से पहले BTVI ने लाइसेंस बिक्री के लिए कई मीडिया संस्थानों से बातचीत की थी। हालांकि, यह सौदा परवान नहीं चढ़ा था, क्योंकि BTVI ने इसके लिए ज्यादा मूल्य मांगा था। विश्लेषकों के अनुसार, वर्तमान समय में यह सौदा 50 करोड़ रुपये से अधिक हो सकता है।

Daily Update के लिए अभी डाउनलोड करे : MP samachar का मोबाइल एप

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here