नहीं रहे चिपको आंदोलन के प्रणेता सुंदरलाल बहुगुणा, कोरोना से निधन

0
342

ऋषिकेश। मशहूर चिपको आंदोलन के प्रणेता सुंदरलाल बहुगुणा का निधन हो गया। वह कोरोना पॉजिटिव थे और उनका इलाज ऋषिकेश एम्स में किया जा रहा था। जहां शुक्रवार को उन्होंने अंतिम सांस ली। निधन उत्तराखंड में शोक की लहर दौड़ गई।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने निधन पर गहरा दुख जताया है। सीएम रावत ने लिखा कि चिपको आंदोलन के प्रणेता, विश्व में वृक्षमित्र के नाम से प्रसिद्ध महान पर्यावरणविद् पद्म विभूषण सुंदरलाल बहुगुणा जी के निधन का अत्यंत पीड़ादायक समाचार मिला। यह खबर सुनकर मन बेहद व्यथित हैं। यह सिर्फ उत्तराखंड के लिए नहीं बल्कि संपूर्ण देश के लिए अपूरणीय क्षति है।

पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में दिए गए महत्वपूर्ण योगदान के लिए उन्हें 1986 में जमनालाल बजाज पुरस्कार और 2009 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया। पर्यावरण संरक्षण के मैदान में सुंदरलाल बहुगुणा जी के कार्यों को इतिहास में सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा। मैं ईश्वर से दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करने और शोकाकुल परिजनों को धैर्य व दुःख सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना करता हूं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here