BHOPAL : किसान दिवस पर प्रदर्शन करने आ रहे किसानों को जेल में बंद किया, तीन किसान नेता रात से ही हिरासत में

0
76
bhopal farmers in jail

आज किसान दिवस है। दिल्ली में अन्नदाता भूख हड़ताल पर हैं। उनके आंदोलन के समर्थन में राजधानी के नीलम पार्क आ रहे किसानों को पुलिस ने रोक दिया। तीन किसान नेताओं को रात में ही हिरासत में ले लिया गया। इसके बाद सुबह भोपाल आ रहे किसानों को शहर की सीमाओं पर रोक दिया गया। साथ ही, जो किसान नेता नीलम पार्क में शांतिपूर्ण सत्याग्रह करने आ रहे थे, उन्हें पहले पार्क में नहीं घुसने दिया, इसके बाद जब वो सड़क पर आ गए और नारेबाजी करने लगे, तो उन्हें हिरासत में लेकर बसों से पुरानी जेल ले जाकर बंद कर दिया।

ये भी पढ़े : POLICE के साथ की अभद्रता महिला टीआई और सब इंस्पेक्टर से की झूमाझटकी

छुप-छुपाकर नीलम पार्क पहुंचे कुछ किसानों ने कहा कि तीन नेताओं को सरकार ने गिरफ्तार कर लिया। मध्य प्रदेश सरकार ने जिस हिटलरशाही के तहत शांतिपूर्ण तरीके से विरोध करने आ रहे किसानों को रोक दिया है। शिवराज सरकार वही है, जिनके रहते हुए मंदसौर में किसानों पर गोली चलाई गई थी। किसान नेताओं ने कहा कि किसान अपनी जायज मांगें भी नहीं रख सकते हैं।

ये भी पढ़े : इंदौर डबल मर्डर – जिस बेटी को नाज से पाला, उसने ही लिखा मां-बाप का ‘कत्लनामा’

किसान नेता प्रह्लाद बैरागी ने कहा कि MP सरकार ने किसानों को उनका हक नहीं दिया, तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा। हम CM शिवराज सिंह से पूछते हैं कि किसानों से खरीदे गए गेहूं का बोनस 2019-20 का दिया है। PM फसल बीमा के नाम पर किसानों को ठगा जा रहा है।

किसानों को हिरासत में लेकर पुलिस उन्हें पुरानी जेल ले गई।
किसानों को हिरासत में लेकर पुलिस उन्हें पुरानी जेल ले गई।

ऑल इंडिया किसान को-ऑर्डिनेशन कमेटी के राहुल राज किसानों के समर्थन में यहां आए थे। MP की शिवराज सरकार किसानों के इस लोकतांत्रिक अधिकार को भी छीन रही है। नीलम पार्क में प्रदर्शन नहीं होने दिया गया गया और यहां पुलिस तैनात कर दी गई है। जो किसान आ रहे थे, उन किसानों को रोक दिया गया है।

ये भी पढ़े :  CM शिवराज की चेतावनी- बदमाशों प्रदेश छोड़ दो, नहीं तो मामा मसल देगा

तीन किसानों को हिरासत में लिया

MP सरकार हिटलरशाही के तहत किसानों को शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन के लिए भोपाल आ रहे सामाजिक कार्यकर्ता विजय कुमार और किसान नेता बाबू सिंह राजपूत और इरफान जाफरी को भानपुर पुलिस ने हिरासत में लिया है। ये तीनों संयुक्त किसान मोर्चा की भोपाल इकाई के सदस्य हैं। संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से 23 दिसंबर को भोपाल के नीलम पार्क में एक शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया जा रहा है। इसके चलते विजय, बाबू सिंह और इरफान जाफरी को हिरासत में लिया गया है।

किसानों को पार्क में नहीं घुसने दिया, तो उन्हें सड़क पर खड़े होना पड़ा।
किसानों को पार्क में नहीं घुसने दिया, तो उन्हें सड़क पर खड़े होना पड़ा।

कांग्रेस के 95 विधायक ट्रैक्टर से पहुंचेंगे विधानसभा

केंद्र द्वारा पारित तीन कृषि कानून और महंगाई के विरोध में प्रदेश कांग्रेस 28 दिसंबर को विधानसभा का घेराव करने जा रही है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ सभी 95 विधायक ट्रैक्टरों से विधानसभा पहुंचेंगे। 28 दिसंबर को कांग्रेस का स्थापना दिवस है, उस दिन सारे कांग्रेस विधायकों से पीसीसी पहुंचने को कहा गया है, जहां से विधानसभा के लिए प्रस्थान करेंगे। प्रदेश भर के जिलों से कांग्रेस के आह्वान पर किसान भी ट्रैक्टर लेकर विधानसभा पहुंच रहे हैं।

ये भी पढ़े :  क्रिकेटर सुरेश रैना,सिंगर गुरु रंधावा और सुजेन खान अरेस्ट, बाद में मिला बेल, ये है आरोप…

केंद्र द्वारा पारित 3 कानूनों में से राज्य सरकार मंडी एक्ट में संशोधन का प्रस्ताव लाने जा रही है। इसमें सरकारी मंडियों के अलावा निजी मंडियां खोलने का प्रावधान है। इसका कांग्रेस विरोध कर रही है। मंगलवार को बैठक में तय हुआ कि विधानसभा के घेराव के लिए रणनीति तैयार करने की रूपरेखा पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव, पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा और जीतू पटवारी को सौंपी गई है।

ये भी पढ़े : घोटाले में नीरव मोदी को भी पीछे छोड़ा, बैंकों को 8000 करोड़ का लगाया चूना, पूर्व सांसद पर केस दर्ज  

Daily Update के लिए अभी डाउनलोड करे : MP samachar का मोबाइल एप 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here