Indore में बर्ड फ्लू की दस्तक, डेली कॉलेज में मृत कौवों में मिला H5N8 वायरस

0
173
Bird flu knock
Bird flu knock

भोपाल | अभी मध्य प्रदेश की प्रशासनिक राजधानी भोपाल और आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना वायरस का कहर खत्म नहीं हुआ था कि अब बर्ड फ्लू ने दस्तक दे दी है. इंदौर में मृत मिले कौवों में बर्ड फ्लू वायरस की पुष्टि हुई है. र के इंदौर डेली कॉलेज में लगातार कौवों की मौत हो रही है. रविवार को मृत मिले 14 कौवों का परीक्षण करने पर उनमें 10 में एच5एन8 एवियन इन्फ्लूएंजा का पता लगा है. एच5एन1 से लेकर एच5एन5 टाइप के बर्ड फ्लू वायरस को घातक माना जाता है, यह संक्रामक भी होता है. हालांकि एच5एन8 एवियन इन्फ्लूएंजा से सिर्फ कौवों की ही मौत हुई है|

इंदौर नगर निगम की टीम ने डेली कॉलेज परिसर में जिन पेड़ों पर पक्षियों के घोंसले बने हैं और मैदान क्षेत्र में जहां कौवों की बीट पाई गई, वहां सैनिटाइजेशन किया. बर्ड फ्लू वायरस की पुष्टि के बाद स्वास्थ्य विभाग ने डेली कॉलेज के 5 किलोमीटर के दायरे में आने वाले घरों में रहने वालों के सर्वे के लिए शनिवार को एएनएम और आशा कार्यकर्ताओं की 7 टीमों का गठन किया था. उन्होंने मूसाखेड़ी, यादव नगर, अजय बाग सहित आसपास के इलाकों में 560 परिवारों के 2808 लोगों की स्क्रीनिंग की. सीएमएचओ डॉ. पूर्णिमा गाडरिया के अनुसार सर्वे के दौरान 11 लोगों में सर्दी, खांसी व बुखार के लक्षण मिले. इनका कोविड टेस्ट भी हुआ है और रिपोर्ट का इंतजार है.

ये भी पढ़े :एक्शन मोड में CM शिवराज, 2021 वर्किंग प्लान को लेकर करेंगे बड़े फैसले

इसके अलावा अब डेली कॉलेज के एक किलोमीटर के दायरे में आने वाले घरों और उनमें रहने वालों का सर्वे किया जाएगा. पहले यह दायरा 5 किलोमीटर था, लेकिन बाद में इसे 1 किमी तक सीमित कर दिया गया. वेटरनरी विभाग ने मूसाखेड़ी क्षेत्र की 11 दुकानों से 22 मुर्गे-मुर्गियों के सैंपल लेकर जांच के लिए भोपाल स्थित हाई सिक्योरिटी लैब में भेजा है. भोपाल-इंदौर में बर्ड फ्लू को लेकर वन विभाग ने अलर्ट जारी किया है. वन अधिकारियों को पक्षियों की मौत की निगरानी के निर्देश दिए गए हैं|

दूसरे पक्षियों एवं जानवरों में इस वायरस क संक्रमण नहीं मिला है.  वायरस के मामले सामने आते ही नगर निगम और वेटरनरी विभाग के डॉक्टरों की टीम मुस्तैद हो गई है. स्वास्थ्य विभाग ने एहतियातन डेली कॉलेज के आसपास के इलाकों में रह रहे लोगो की स्क्रीनिंग करवाई तो 11 लोगों में सामान्य सर्दी खांसी के लक्षण मिले. डेली कॉलेज में 29 दिसंबर को कौवों की मौत का मामला पहली बार सामने आया था. अब तक 100 से अधिक कौवों की मृत्यु हो चुकी है. इनके सैंपल भोपाल स्थित प्रयोगशाला भेजे गए थे, जहां परीक्षण में कुछ मृत कौवों में एच5एन8 एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस के लक्षण की पुष्टि हुई है |

Daily Update के लिए अभी डाउनलोड करे : MP samachar का मोबाइल एप 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here