करेरा में चुनाव का बदलता समीकरण, जीत आसान नहीं

0
84
BJP-Congree
BJP-Congree

मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश में उपचुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज हो गई है। जिसका विगुल भाजपा की ओर से ग्वालियर में हुए सदस्या अभियान को चला के फूंका जा चुका है। जिसमें कांग्रेस के साथ-साथ हजारों लोगों द्वारा भाजपा की सदस्यता ग्रहण की जा चुकी है। ग्वालियर में आयोजित सदस्यता अभियान में शिवपुरी जिले के हजारों कांग्रेसियों ने ग्वालियर पहुँच कर भाजपा की सदस्यता ली। शिवपुरी जिले में भी दो विधानसभा में उपचुनाव होना है तो जाहिर सी बात है कि जिले में अब राजनीतिक उत्सवों का आयोजन प्रति दिन होना तय है। दोनों विधानसभा में फिलहाल बसपा द्वारा ही प्रत्याशी की घोषणा की गई है। जिसमें पोहरी से सुरेश कुशवाह जो इससे पूर्व के चुनाव में भी अपना हुनर दिखा चुके है। पूर्व हुए चुनाव में सुरेश कुशवाह को दूसरा स्थान मिला था।

पोहरी में बसपा की मजबूती के कारण भाजपा के प्रत्याशी प्रह्लाद भारती ने तीसरा स्थान पाया था, जबकि कांग्रेस जिसके बाद मध्यप्रदेश 27 में खाली पड़ी सीटों पर उपचुनाव होना है। हालांकि उपचुनाव से पहले भाजपा की ओर से दोनों विधानसभाओं में स्थति मजबूत बनाने के लिए क्षेत्रीय नेताओं को संगठन व मंत्री मंडल में स्थान दिया है हाल ही में कांग्रेस का दामन छोड़ भाजपा में शामिल हुए पूर्व विधायक सुरेश राठखेड़ा जो सिंधीयनिस्ट है जिन्हें विधायक पद छोड़ने के बदले राज्य शासन में राज्यमंत्री बनाया गया और करेरा में भाजपा नेता रणवीर सिंह रावत जो पूर्व विधायक थे फिलहाल भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष भी है उन्हें संगठन द्वारा भाजपा का महामंत्री बनाया गया है। अब तक के हुए करेरा विधानसभा चुनावों के वारे में कुछ जानकारी एकत्रित की है जो बताती है कि करेरा विधानसभा का क्या मिजाज है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here