ग्वालियर को मिली 194 करोड़ रूपए की सौगात, दिव्यांगों का खेल परिसर बनेगा

0
39
narendra singh tomar

ग्वालियर। जीवाजी विश्वविद्यालय कैंपस में नवनिर्मित अटल बिहारी वाजपेयी इंटरनेशनल कंन्वेशन सेंटर और ओपन थियेटर का लोकार्पण आज सुबह केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने दीपक जलाकर किया। करीब 24 करोड़ की लागत से बने इस मल्टीआर्ट कॉम्पलेक्स का उद्घाटन शाम 7 बजे होना था, लेकिन चुनाब आयोग की 12.30 बजे की प्रेस कॉन्फ्रेंस के चलते समय में बदलाव किया गया। लोकार्पण समारोह का आयोजन ऑन और ऑफ लाइन दोनों तरह से हुआ। अतिथि के रूप में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, ऑनलाइन मौजूद रहे।

जबकि केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, क्षेत्रीय सांसद विवेक शेजवलकर, उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव, राज्य मंत्री भारत सिंह कुशवाह कार्यक्रम में मौजूद रहे। इस कार्यक्रम के लिए मल्टीआर्ट कॉम्पलेक्स के भवन में ही बड़ी स्क्रीन लगाई गई कार्यक्रम के दौरान जेयू की कुलपति प्रो.संगीता शुक्ला, सभी ईसी मेंबर,रेक्टर प्रो.डीडी अग्रवाल, कुलसचिव प्रो.आनंद मिश्रा, डीसीडीसी डॉ.केशव सिंह गुर्जर मौजूद रहे। इस दौरान कोविड से बचाव के लिए नियमों और सोशल डिस्टेसिंग का पालन किया गया।

194 Crore में 170 करोड़ का दिव्यांगों का खेल परिसर एवं रिसोर्स सेंटर, जीविवि में 24 करोड़ के मल्टीआर्ट
कॉम्पलेक्स का हुआ लोकार्पण 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कल सुबह 10 बजे दिव्यांगजन खेल परिसर एवं रिसोर्स सेंटर का शिलान्यास तथा चयनित दिव्यांगजन को कृत्रिम अंग व सहायक उपकरण मिलेंगे। यह आयोजन अटल बिहारी वाजपेयी (ट्रिपल आईटीएम) के सामने मुरैना रोड़ स्वेज फार्म मैदान पर भोपाल से वर्चुअल माध्यम से किया गया। इसमें केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गेहलोत, केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर तथा राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया दिल्ली से वर्चुअल लिंक के माध्यम से शामिल होंगे। सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण ग्वालियर के संयुक्त संचालक ने बताया कि इस दिव्यांगजन खेल परिसर का निर्माण 14 हैक्टेयर क्षेत्र में होगा। यह खेल परिसर भारत सरकार दिव्यांगजन सशक्तिकरण एवं सामाजिक न्याय के सौजन्य से स्थापित होगा।

इसमें इनडोर खेल कॉम्प्लेक्स, आउटडोर खेल, जल क्रीड़ा केन्द्र के साथ-साथ लगभग 106 दिव्यांग लड़के और 106 दिव्यांग लड़कियों के आवास की व्यवस्था रहेगी। यह खेल परिसर तीन भागों में विभक्त होगा। पहला बहुउपयोगी हॉल, जिसमें व्हीलचेयर, बैडमिंटन जैसे खेलों के लिये व्यवस्था होगी। दूसरे भाग में स्टेडियम सह खेल मैदान के साथ फिटनेस केन्द्र, खेल विज्ञान केन्द्र आदि होंगे। तीसरे भाग में तरणताल झ्र एक ओलंपिक आकार का तथा एक तैयारी के लिये होगा। इसमें जिन अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खेलों की सुविधा होगी, उनमें बैडमिंटन, बैठकर खेलने का बॉलीबॉल, व्हीलचेयर बास्केट बॉल, व्हीलचेयर रगबी, फुटबॉल, बॉचिया, गोल बॉल, ताईक्वांडो, जूडो, फैंसिंग, टेबल टेनिस, पैरानृत्य खेल, पैरा पॉवर लिफ्टिंग, चारलेन का 200 मीटर दौड़ने का ट्रैक शामिल हैं। यह खेल परिसर राष्ट्र का प्रथम अंतर्राष्ट्रीय स्तर का दिव्यांग खेल परिसर होगा। इस खेल परिसर की अनुमानित लागत 170 करोड़ रुपए होगी एवं निर्माण कार्य दो वर्ष में पूर्ण होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here