ओलों की वजह से मुरैना ज‍िले के आठ गांवों में नुकसान

0
125
hail in morena

Morena News : ओलावृष्टि से मुरैना (morena) जिले के 8 गांवों में फसलों को नुकसान हुआ है। यह आठों गांव सबलगढ़ विकास खण्ड के हैं। नुकसान की प्राथमिक जानकारी आने के बाद कलेक्टर कलेक्टर अनुराग वर्मा ने इन सभी आठ गांवों में फसलों के नुकसान के सर्वे के आदेश दिए हैं और इस सर्वे की जिम्मेदारी सबलगढ़ एसडीएम अंकिता धाकरे को दी गई है।

ये भी पढ़े : Apple जल्द लाएगा अपना फोल्डेबल iPhone, जानिए कब तक 

गौरतलब है कि, सोमवार-मंगलवार की रात पहले आंधी आई उसके बाद बारिश शुरू हुई। आंधी व बारिश के साथ सबलगढ़ क्षेत्र में ओलावृष्टि भी हुई। कई गांवों में तो इतने ओले बरसें के खेतों के कूढ़ ओलों से भर गए और सरसों व गेहूं की जो फसल अंकुरित हुई है उसको नुकसान हुआ है। ओलों से फसलों में नुकसान का मामला सबसे पहले नईदुनिया ने ही मंगलवार के अंक में उठाया था।

इसके बाद मंगलवार देर शाम कलेक्टर अनुराग वर्मा ने सबलगढ़ ब्लॉक के उन आठ गांवों में सर्वे के आदेश दिए हैं जहां ओलावृष्टि ज्यादा हुई है। एएसएलआर सिरोमन सिंह कुशवाह ने बताया कि सबलगढ़ विकासखण्ड के जिन 8 गांवों में ओलावृष्टि हुई है उनमें जावरौल, जारोली, पचेर, बावड़ीपुरा, कैमाराकलां, टोंगा, रामपुरकलां, बामसोली गांव शामिल हैं।

सर्वे की शिकायत नहीं आना चाहिए : कलेक्टर

कलेक्टर ने सर्वे का जिम्मा सबलगढ़ एसडीएम अंकिता धाकरे को देते हुए सख्त निर्देश दिए हैं कि, नुकसान वाले क्षेत्रों में राजस्व अधिकारियों की टीम लगाकर खेत-खेत का सर्वे किया जाए। ओलावृष्टि से हुए नुकसान की भरपाई का मुआवजा किसानों को दिया जाएगा। कलेक्टर ने कहा, खेत का सर्वे करते समय कृषक को भी मौके पर बुलाएं ऐसा न हो, कि एक स्थान पर बैठकर पूरे क्षेत्र का सर्वे कर लिया जाए। कलेक्टर ने साफ कहा कि, मुझे किसी गांव या कृषक की शिकायत नहीं मिले और सर्वे का काम 3 दिवस के अंदर पूर्ण कर लिया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here