नरोत्तम मिश्रा : कांग्रेस आपदा में भी जनता के बीच नहीं गई

0
356
Narottam Mishra
Narottam Mishra

भोपाल। दिल्ली में बैठक आयोजित की गई जिसमें गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा भी शामिल हुए भोपाल लौटने के बाद मीडिया से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि मूल्य रूप से भारतीय जनता पार्टी में संगठन की प्रक्रिया होती है संगठन की समीक्षा संगठन का काम आने वाले उप चुनाव पर चर्चा हुई। कोरोना महामारी पर कहा वास्तव में यह चिंता की बात है दरअसल जब कोरोना आया था तब केस कम थे और अब लोगो की लापरवाही से केस बढ़ते जा रहे है।  लोग कोरोना को मजाक में ले  रहे है। सरकार हर तरह की सावधानी बरत रही है। निरंतर आप सभी के माध्यम से यही प्रार्थना है की कोई भी संक्रमित हो तो तुरंत उसका इलाज कराए तथा समाज से अपील है अछूत की दृष्टि से ना देखें।

कांग्रेस की सूची पर कहा फ्री फाइल चाहिए, जानबूझकर फाइल दे देते होंगे जिससे कि फ्लैट पर आ सके। क्योंकि कांग्रेस में कार्यकर्ता बचे नहीं है। इसलिए फीडबैक नहीं आ पा रहा है, प्रत्याशी ना होने से संभावित है। कांग्रेस के मामले में सुचना मेरे पास है वो किसी को बताये या न बताये लेकिन कि उनके पास व्यक्ति नहीं बचे है। गुजरात चंबल में कांग्रेस नेताओं के आने पर कहा मैं भी यही कहता हूं कि उनके पास पैसे नहीं बचे हैं इसलिए बाहर के लोग बुला रहे हैं।

कांग्रेस द्वारा शासन के चावल की गुणवत्ता पर उठाए जा रहे सवालो पर कहा कि कांग्रेस को किसी भी तरह का कोई आरोप लगाने का अधिकार इसलिए नहीं है  क्योकि वे जनता के बीच जाते ही नहीं है और बाढ़ में कांग्रेस पार्टी का कोई भी नेता नहीं दिखा बाढ़ की हालत में भी किसानों के बीच कोई नेता नहीं दिखा। जयवर्धन सिंह द्वारा जबरदस्ती की कविता लिखने पर कहा की पिताजी के लिए क्या पिताजी बेटे के लिए लिखें क्या बुराई है लेकिन हम समझ नहीं पाए और दमन किसका हुआ है दिल की बात जुबां पर आ गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here