नए साल के जश्न को लेकर बड़ा फैसला युवा नहीं खरीद सकेंगे शराब, ये है वजह

0
241
big decision
big decision

इंदौरः इंदौर में ड्रग माफियाओं के खिलाफ चलाई जा रही मुहिम के बीच प्रशासन ने अब एक और बड़ा फैसला लिया है. जिसके तहत नए साल के जश्न को देखते हुए 21 साल से कम उम्र के युवाओं के शराब खरीदने पर रोक लगा दी गई है. दरअसल बीते दिनों प्रशासन की तरफ से पब और बार पर छापेमारी की कार्रवाई की गई थी|

ये भी पढ़े ; भारत में नए कोरोना वायरस से संक्रमित 6 मरीज मिले

कार्रवाई के दौरान हुई जांच में पाया गया कि 21 वर्ष से कम उम्र के युवा यहां नशा करते पाए गए, युवा पीढ़ी को नशे की लत ना लगे इसको देखते हुए इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने आबकारी विभाग को आदेश दिया है कि 21 साल से कम उम्र के युवाओं को शराब न बेची जाए. अगर कोई दुकानदार 21 साल से कम उम्र के युवाओं को शराब बेचता है तो उस पर आबकारी अधिनियम के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएगी|

कलेक्टर से निर्देश मिलने के बाद आबकारी विभाग ने भी तत्काल जिले के सभी शराब की दुकानों को आदेश जारी कर 21 साल से कम उम्र के युवाओं के शराब बिक्री पर रोक लगा दी है.  रोक लगने के बाद भी अगर कोई दुकानदार शराब बेचता पाया गया तो आबकारी अधिनियम 144 के तहत दुकानदार पर कार्रवाई की जाएगी. यह नियम बार (Bar) और पब (Pub) पर भी लागू होगा. अगर बार और पब संचालक ने इस नियम का उल्लंघन किया तत्काल उनका लाइसेंस रद्द किया जा सकता है|

ये भी पढ़े ; शिवराज सरकार ने सरकारी कर्मचारियों के लिए लागू किया ड्रेस कोड।

इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह के निर्देश पर इंदौर जिले की 175 शासकीय और देशी और विदेशी शराब दुकानों को 21 साल से कम उम्र के युवाओं को शराब न बेचने के निर्देश तो दिए ही गए है. साथ ही दुकानदारों को यह भी आदेश दिया गया है कि वह किसी भी शराब की दुकान पर 21 साल से कम उम्र के लड़कों को काम पर नहीं रख सकेंगे. नए साल पर शराब दुकान में किसी भी प्रकार के जश्न पर भी रोक रहेगी|

इससे पहले रविवार को इंदौर में ड्रग माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करते हुए जिला प्रशासन ने शहर के 3 पब और रेस्टोरेंट को सील कर दिया था. इनका ड्रग्स कनेक्शन सामने आया था. इंदौर के जंजीरवाला चौराहे पर ‘ई इक्वल टू एमसी स्क्वायर’ और देवास नाका स्थित सुंदरवन बार, बाईपास स्थित होटल प्राइड पर जिला प्रशासन ने ताला लगा दिया|

दरअसल ड्र्ग्स स्कैंडल में पकड़े गए आरोपियों ने पूछताछ में इन तीनों पब, बार व रेस्टोरेंट में ड्रग्स सप्लाई करने की बात स्वीकार की है. इसी के तहत जिला प्रशासन ने आबकारी अधिकारियों के साथ मिलकर यह कार्रवाई की थी. बताया जा रहा है कि इन जगहों से ड्रग्स की सप्लाई की जाती थी|

नशे का कारोबार करने के मामले में पकड़ी गई ड्रग आंटी कम उम्र के युवाओं को नशे की लत लगाने में लगी हुई थी. जिसके चलते इंदौर जिला प्रशासन ने अब शराब पिलाने और बेचने पर सख्त रवैया अपनाया है. जिन तीन बार और पब के लाइसेंस रद्द किए गए थे उनका कनेक्शन सीधा ड्रग आंटी से जुड़ा हुआ था. ऐसे में माना जा रहा है कि आंटी सीधे तौर पर कम उम्र के युवाओं को टारगेट कर रही थी. जिसके बाद पुलिस इसे लेकर सख्त नजर आ रही है. इसलिए पुलिस ने नए साल को मद्देनजर रखते हुए 21 साल से कम उम्र के युवाओं को शराब बिक्री पर ही रोक लगा दी है|

 

 
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here