CONGRESS का बड़ा आरोप- नगरीय निकाय चुनाव टालने की कोशिश कर रही सरकार 

0
170
CONGRESS
CONGRESS

भोपालः दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन का असर अब मध्य प्रदेश में भी देखने को मिल सकता है. कांग्रेस नेताओं ने आशंका जताई है की बीजेपी नगरीय निकाय चुनाव टालने की कोशिश में जुटी है. कांग्रेस का कहना है कि बीजेपी इस कोशिश में जुटी है कि नगरीय निकाय चुनाव को कुछ समय के लिए आगे बढ़ाया जाए. वही बीजेपी ने भी इस मुद्दे पर कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस के पास आरोप लगाने के अलावा कोई मुद्दा नहीं बचा है|

कांग्रेस नेता चंद्र प्रभाष शेखर और पूर्व मंत्री राजकुमार पटेल ने शिवराज सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि नए कृषि कानून को लेकर किसानों में आक्रोश है. वहीं पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम, गैस सिलेंडर का महंगा होना, बिजली के बढ़े हुए दामों से जनता में नाराजगी है.  कांग्रेस लगातार जनता की आवाज उठा रही है. इसलिए सरकार चुनाव टालने की कोशिश कर रही है |

ये भी पढ़े :  सीएम शिवराज और सिंधिया की होगी मुलाकात, दोनों के बीच होगी चर्चा

कांग्रेस पार्टी के नगरीय निकाय चुनाव टालने की आशंका के आरोपों पर बीजेपी ने भी पलटवार किया. बीजेपी प्रवक्ता राजपाल सिसोदिया ने कहा कि कांग्रेस के पास आरोप लगाने के आलावा कोई काम नहीं बचा है. कांग्रेस जब सरकार में थी तब वादा करके भी किसानों का कर्जमाफ नहीं किया और अब किसानों के नाम पर राजनीति कर रही है. बीजेपी ने नगरीय निकाय चुनाव की पूरी तैयारी कर ली है लेकिन कोरोना के चलते निकाय चुनाव में देरी हो सकती है. उन्होंने कहा कि फरवरी तक नगरीय निकाय चुनाव की तारीखों का ऐलान हो सकता है|

ये भी पढ़े : SCHOOL में निरीक्षण करने पहुंचे कलेक्टर,कलेक्टर ने बच्चों की ली क्लास, जानिए क्या थी वजह

माना जा रहा है कि महंगाई के मुद्दे को कांग्रेस नगरीय निकाय चुनाव में भुनाना चाहती है. यही वजह है कि कांग्रेस नेता एक सुर में यही मांग कर रहे हैं कि नगरीय निकाय चुनाव की तारीखों का ऐलान जल्द से जल्द होना चाहिए. राजनीतिक जानकारों की माने तो कांग्रेस पार्टी को लग रहा है कि नगरी निकाय चुनाव के लिए यह बेहतर समय है जब सरकार को कई मुद्दों पर एक साथ घेरा जा सकता है|

ये भी पढ़े : आज किसानों के समर्थन में सड़क पर उतरेंगे Rahul Gandhi, राष्ट्रपति भवन तक करेंगे मार्च

दरअसल, नगरीय निकाय चुनाव 2020 में होने थे. लेकिन कोरोना के चलते निकाय चुनाव एक साल के टाल दिए गए. उपचुनाव के बाद निकाय चुनाव की प्रक्रिया एक बार फिर शुरू हो गयी. प्रदेश में निकायों के आरक्षण की प्रक्रिया भी पूरी हो गयी. जिससे लग रहा था कि निकाय चुनाव जनवरी में कराए जा सकते है. लेकिन अब एक तरफ कांग्रेस नेताओं ने जहां निकाय चुनाव टालने की आशंका जताई है तो बीजेपी ने भी फरवरी में निकाय चुनाव कराने की बात कही है|

ये भी पढ़े : ब्रिटेन से भारत आए 22 यात्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए

Daily Update के लिए अभी डाउनलोड करे : MP samachar का मोबाइल एप 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here