ग्वालियर में व्यापारी काे घर से पकड़कर ले गई पुलिस, भाजपा नेता ने टीआई के सामने की अभद्रता

0
342
Gwalior
Gwalior

ग्वालियर | पुलिस किस तरह से सत्ताधारी दल के नेताओं के कहने पर दूसरे लाेगाें काे परेशान कर रही है। इसकी बानगी साेमवार काे माधौगंज थाने में देखने काे मिली। एक मकान की दलाली वसूलने के लिए भाजपा नेता के कहने पर माधाैगंज टीआई ने पुलिसकर्मी को भेजकर न सिर्फ व्यापारी को थाने बुलवाया बल्कि अपने सामने थाने में उसके साथ अभद्रता भी कराई। आरोपी खुद को भाजपा नेता बताता है और वार्ड 41 से पार्षद चुनाव की तैयारी कर रहा है। सूचना मिलने पर व्यापारी के पड़ोसी कांग्रेस नेता थाने पर एकत्रित हो गए। विवाद बढ़ने पर कांग्रेस पदाधिकारी थाने पर जुटे और घेराव कर दिया।

ये भी पढ़े :फिर लगा लॉकडाउन ब्रिटेन में , फरवरी माह के मध्य तक रहेगा प्रभावी

कांग्रेस नेताओं ने दलाल और उसकी मदद करने वाले टीआई पर कार्रवाई की मांग को लेकर रात तक माधौगंज थाने पर धरना दिया। आखिर में एडिशनल एसपी सतेंद्र सिंह ताेमर ने टीआई विनय शर्मा को तीन दिन की छुट्टी पर भेजकर सीएसपी आत्माराम शर्मा को मामले की जांच सौंप दी जानकारी के मुताबिक माधौगंज टीआई ने सोमवार शाम 4 बजे पुलिसकर्मी भेजकर व्यापारी दीपक गुप्ता को उनके घर से थाने बुला लिया। थाने पर पहले से सोनू गोयल मौजूद था। सोनू मकान की दलाली को लेकर दीपक से विवाद करने लगा। दीपक के पिता लखनलाल भी कुछ देर बाद थाने पहुंचे।

इसके बाद दीपक के पड़ोसी कांग्रेस नेता मोनू सोलंकी और मोहित दुसेजा भी थाने पहुंच गए। थाने में टीआई विनय शर्मा के कक्ष में सोनू गोयल का लखनलाल और दीपक से विवाद हुआ। लखनलाल का आरोप है कि टीआई के सामने सोनू ने उनके बेटे से गालीगलौज की और दबाब बनाया घटना की सूचना मिलने पर शहर जिला कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. देवेंद्र शर्मा, विधायक सतीश सिकरवार और रश्मि पंवार शर्मा सहित अन्य कांग्रेस नेता भी थाने पर पहुंच गए। दूसरी ओर सोनू के साथ भाजपा नेता भी थाने पर आ गए। कांग्रेस नेताओं ने सोनू गोयल व टीआई के खिलाफ कार्रवाई को लेकर थाने के बाहर ही धरना देना शुरू कर दिया। बाद में एएसपी सतेंद्र सिंह तोमर व सीएसपी आत्माराम शर्मा भी माधाैगंज थाने पहुंचे

कांग्रेस नेताओं और व्यापारी लखनलाल गुप्ता ने रात 7.20 बजे धरना खत्म कर एएसपी सतेंद्र तोमर को आवेदन दिया। आवेदन में बताया गया कि माधौगंज टीआई विनय शर्मा ने लखनलाल और दीपक गुप्ता को फोन पर मकान दिखाने की दलाली के रुपए सोनू गोयल के पास पहुंचाने को कहा था, लेकिन वह जब टीआई की धमकी में नहीं आए ताे उनके घर पर सादा कपड़ों में दो सिपाही भेजकर दीपक को थाने बुलाकर लाॅकअप में बंद कर दिया।

जब वह (लखनलाल) अपने बेटे को छुड़ाने पहुंचे ताे टीआई ने उनसे अभद्रता की और थाने के बाहर असामाजिक तत्वों को बुला लिया। बाद में सीएसपी के पहुंचने पर असामाजिक तत्वों‌ को हटाया गया। लखनलाल गुप्ता ने टीआई से बातचीत की ऑडियो रिकाॅर्डिंग भी पुलिस अफसरों को दी है।

ये भी पढ़े :ग्वालियर मेला आयोजन को लेकरमंत्री की घोषणा के बाद भी नहीं आया आदेश 

बताया गया है कि एक साल पहले दीपक गुप्ता के दर्जी ओली स्थित एक मकान को बिकवाने के लिए प्रॉपर्टी डीलर सोनू गोयल तीन अलग-अलग पार्टियों को लेकर पहुंचे थे, दीपक और उसके पिता लखनलाल ने मकान बेचने से इनकार कर दिया था। कुछ समय बाद जुलाई में दीपक ने उस मकान को बेचने का अनुबंध कर लिया और दिसंबर में मकान की रजिस्ट्री कर दी।

ये भी पढ़े :कालाधन मंत्री 2 पूर्व सीएम पर संकटCS और गृह विभाग के ACS की चुनाव आयाेग में पेशी आज 

दीपक ने बताया कि मकान की रजिस्ट्री होने के कुछ दिन पहले सोनू का उनके पास फोन आया था। साेनू ने बेचे गए मकान की दलाली के ताैर पर 70 हजार रुपयों की मांग की थी, लेकिन हमने दलाली देने से इनकार कर दिया था, क्याेंकि हमने साेनू के साथ आए लोगों को मकान नहीं बेचा था। जबकि सोनू का कहना था कि जिस पार्टी ने मकान खरीदा है उसे वही लेकर आया था।

ये भी पढ़े :MP में तबादलों पर मंथन शिक्षकों के स्थानांतरण की फिर से नई नीति बनेगी

बाद में फोन पर दीपक ने सोनू से 15-20 हजार रुपए लेकर मामला खत्म करने को कहा, लेकिन वह 70 हजार रुपए की मांग पर अड़ा था। दीपक काे धमकाने के लिए सोनू माधाैगंज टीआई विनय शर्मा के पास पहुंचा। टीआई ने सोनू के कहने पर दीपक को घर से बुलवा लिया।एएसपी सतेंद्र तोमर का कहना है कि व्यापारी व कांग्रेस नेताओं के शिकायत पर सीएसपी आत्माराम शर्मा को जांच सौंपी गई है। टीआई विनय शर्मा को तीन दिन की छुट्टी पर भेजा गया है। जांच रिपोर्ट के बाद कार्रवाई की जाएगी।

Daily Update के लिए अभी डाउनलोड करे : MP samachar का मोबाइल एप 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here