पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को शिवराज में नज़र आए शाहरुख़ और सलमान

0
171
kamalnath shivraj singh

उपचुनाव के लिये कांग्रेस और भाजपा में शुरू हुई जुबानी जंग अब तेजी से व्यक्तिगत हमलों और छवियों पर केंद्रित होती जा रही है। इसी बीच आज (12 अक्टूबर) सागर जिले की सुरखी विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशी श्रीमती पारुल साहू (Parul Sahu) के समर्थन में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) कभी खुद को मामा कहते हैं ,कभी खुद को किसान का बेटा बताते हैं ,कभी मंच पर घुटनों के बल बैठ जाते हैं ,वह इतनी अच्छी एक्टिंग कर लेते हैं कि उन्हें तो मुंबई जाना चाहिए , वहाँ एक्टिंग में वो शाहरुख और सलमान को भी पीछे छोड़ देंगे , एक्टिंग में वह मध्यप्रदेश का नाम जरूर रोशन करेंगे।

यह भी पढ़े : 63 लाख 51 हजार से अधिक मतदाता करेंगे मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर फैसला  

इस अवसर पर श्री नाथ ने कहा कि कितना शर्मनाक है कि प्रदेश में आज तक सोयाबीन की खराब फ़सलो का किसानों को एक रुपए का भी मुआवजा नहीं मिला है और हमारे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह (shivraj singh) प्रतिदिन हर सभा के मंच से झूठ परोसते हैं कि हमने किसानों के खातों में हज़ारों करोड़ों रुपए डाल दिये है , यह इनकी सच्चाई है , इतना झूठ बोलते इन्हें शर्म भी नहीं आती।

 

यह भी पढ़े :   भाजपा ने पूरा किया समझौता, कांग्रेस के सामने कठिन लक्ष्य 

शिवराज जी को कुर्सी की व सरकार की बहुत तड़प है।जनता ने उन्हें 15 वर्ष दिए थे।15 वर्ष बाद जनता ने प्रदेश में हमारी सरकार बनाई।हमारी सरकार वोट से बनी लेकिन उन्होंने बीच में ही नोट से अपनी सरकार बना ली। शिवराज जी के 15 वर्ष सभी ने देखे हैं कि किस प्रकार प्रदेश महिलाओं पर अत्याचार ,किसानों की आत्महत्या ,बेरोजगारी ,भ्रष्टाचार में नंबर वन था।जितने उद्योग लगते नहीं थे उतने बंद हो जाते थे ,प्रदेश में निवेश नहीं आता था क्योंकि विश्वास का माहौल नहीं था।प्रदेश की जनता शिवराज से पूछती थी “ किसान बिना दाम के -नौजवान बिना काम के तो शिवराज जी आप किस काम के “ इनके समय “ स्कूलों में शिक्षक नहीं होते थे ,अस्पताल में डॉक्टर नहीं होते थे ,डॉक्टर के पास दवाई नहीं होती थी ,टंकी में पाइप नहीं होता था ,खंबे में तार नहीं होती थी ,तार मैं बिजली नहीं होती थी “

 

यह भी पढ़े :  मध्यप्रदेश में दमोह की हवा सबसे ज्यादा खराब

मैंने प्रदेश की इसी तस्वीर को बदलने का काम शुरू किया।मैंने 27 लाख किसानों का  कर्जा माफ किया ,बाकी किसानों की कर्ज माफी भी हम 1 जून से प्रारंभ करने जा रहे थे।मैंने माफिया और मिलावटखोरों के खिलाफ अभियान चलाया ,मैंने गौशाला बनवाई ,मैंने पिछड़े वर्ग को 27% आरक्षण प्रदान किया ,मैंने ₹100 में 100 यूनिट बिजली प्रदान की , क्या यह मेरा गुनाह ,गलती , पाप था ?
आज यह किसान विरोधी  कानून ले आए हैं।मंडियों का निजीकरण करने जा रहे हैं ,समर्थन मूल्य को गायब करने जा रहे हैं ,किसान को बर्बाद करने जा रहे हैं।

यह भी पढ़े :   उपचुनाव नहीं आसान घुटनों के बल झुकना आना होगा….         

श्री नाथ ने कहा कि भाजपा ने प्रदेश की राजनीति को कलंकित कर दिया , प्रदेश में सौदेबाज़ी की,बिकाऊ राजनीति की शुरुआत की। पूरे विश्व में भारत के लोकतंत्र पर गर्व होता था लेकिन इसी लोकतंत्र और संविधान के साथ खिलवाड़ करने का काम भाजपा ने किया है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here