मंगल का इस राशि में परिवर्तन, इन दो राशि वालों को रहना होगा सतर्क

0
581

राशि। मंगल ग्रह को नौ ग्रहों में बेहद खास माना जाता है। मंगल ग्रह का वृषभ राशि में गोचर 10 अगस्त, 2022 को हो चुका है। ज्योतिष के मुताबिक मंगल ग्रह को व्यक्ति की नौकरी, स्वास्थ्य, प्रेम जीवन आदि पर असर डालेगा। मंगल का वृषभ राशि में गोचर 10 अगस्त, 2022 बुधवार को रात 09:43 बजे हो चुका है। ज्योतिष के मुताबिक मंगल और सूर्य ग्रह मानव शरीर के अग्नि तत्वों को नियंत्रित करते हैं। जीवन शक्ति, शारीरिक शक्ति, सहनशक्ति, इच्छा शक्ति तथा किसी कार्य को लगन के साथ सम्पन्न करने की ऊर्जा प्रदान करते हैं। आइए जानते हैं मंगल के राशि परिवर्तन से कुंभ व मीन राशि के जातकों पर क्या असर होगा और उन्हें क्या उपाय करने होंगे

 

कुंभ राशि के जातकों के लिए मंगल तीसरे भाव और दसवें भाव का स्वामी है। गोचर काल के दौरान मंगल कुंभ राशि वालों के चौथे भाव यानी कि माता, गृहस्थ जीवन, भूमि, संपत्ति और वाहन के भाव में गोचर करेगा। तीसरे भाव के स्वामी का चौथे भाव में गोचर हो रहा है इसलिए छोटे भाई-बहनों के साथ संबंध अच्छे होंगे। चौथा भाव मां का प्रतिनिधित्व करता है। ऐसे में आपकी माता जी थोड़ी उग्र हो सकती हैं। सातवें भाव पर मंगल की चतुर्थ दृष्टि जीवनसाथी के साथ आपके बंधन मज़बूत करेगी। कुंभ राशि वालों को अपनी मां को ज्यादा नाराज नहीं करना चाहिए। मंगल के दुष्प्रभाव से बचना है तो मां को गुड़ की मिठाई उपहार में दें।

 

मंगल के राशि परिवर्तन का मीन राशि पर भी मिलाजुला असर देखने को मिलेगा। मीन राशि के जातकों के लिए मंगल दूसरे भाव और नौवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल मीन राशि वालों के तीसरे भाव यानी कि भाई-बहन, शौक, लघु यात्रा और संचार कौशल के भाव में गोचर करेगा। छठे भाव पर मंगल की दृष्टि स्वास्थ्य के लिहाज से अनुकूल सिद्ध होगी। आपके स्वास्थ्य में सुधार होगा। मंगल की दृष्टि नौवें भाव पर भी पड़ रही है। इसलिए पूजा पाठ व आध्यात्मिकता की ओर आपका रुझान बढ़ेगा। मीन राशि वालों को रोज बजरंग बाण का पाठ करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here