Bhind में बनेगा डकैतों का Museum, जान सकेंगे डाकुओं के खात्मे की कहानी…

0
296
bhind museum
file photo

चंबल में डकैतों का खात्मा होने के बाद अब उनके इतिहास और किस तरह से चंबल से डाकुओं के साम्राज्य को खत्म किया गया इसकी जानकारी आम लोग पा सकेंगे। भिंड पुलिस एक म्यूजियम बनाने जा रही है जिसमें डाकुओं के खात्मे की पूरी कहानी जनता को बताई जाएगी। 

ये भी पढ़े : POLICE के साथ की अभद्रता महिला टीआई और सब इंस्पेक्टर से की झूमाझटकी

भिंड के मेहगांव थाने की पुरानी इमारत में बनने जा रहे इस म्यूजियम में एनकाउंटर के बाद डाकुओं से जब किए गए हथियार और समर्पण के दौरान सौंपे गए हथियारों को भी रखा जाएगा। ‘आजतक’ से बात करते हुए भिंड एसपी मनोज सिंह ने बताया कि ‘भिंड पुलिस यहां से गन वायलेंस को दूर करने की कोशिश कर रही है। 

ये भी पढ़े : इंदौर डबल मर्डर – जिस बेटी को नाज से पाला, उसने ही लिखा मां-बाप का ‘कत्लनामा’

भिंड में जो सबसे बड़ी समस्या है वह गन वायलेंस की है। पूर्व में जो डकैत थे उन्होंने काफी हिंसा फैलाई थी और बाद में उनके एनकाउंटर हुए थे। इन सब के कारण भिंड को बैड लैंड के नाम से जाना जाता है। यहां कई सारे बागी और डकैत हुए हैं, जिनका बाद में एनकाउंटर किया गया है या सरेंडर करवाया गया है। 

ये भी पढ़े :  CM शिवराज की चेतावनी- बदमाशों प्रदेश छोड़ दो, नहीं तो मामा मसल देगा !

शासन ने तमाम नियम भी बनाए हैं। हमारे मुख्यमंत्री जी की भी महती योजना है कि सभी लोग समाज की मुख्यधारा से जुड़े। इसी दृष्टिकोण से भिंड पुलिस ने डकैतों से संबंधित सामग्री जमा की है और मेहगांव थाने की पुरानी बिल्डिंग में जन सहयोग से एक म्यूजियम बनाया जा रहा है, जिसमें जितने भी पुराने डकैत हैं, सरेंडर कर चुके डकैत हैं या जो बड़े-बड़े एनकाउंटर और बड़ी घटनाएं हुई है उनके फोटोग्राफ और जीवंत चीजें लगाई जाएंगी ताकि लोगों को जानकारी मिले और लोग अपराध से मुंह मोड़ें।’

ये भी पढ़े : 2 बार मध्यप्रदेश के CM रहे वोरा का 93 साल की उम्र में निधन, 18 साल कांग्रेस के कोषाध्यक्ष रहे

दरअसल, चंबल का ये इलाका बागियों के लिए जाना जाता है। 90 के दशक में डकैतों की समस्या चरम पर थी। इस दौरान कई एनकाउंटर हुए तो कई दस्यु सरगनाओं ने सरेंडर भी किया था जिनमे फूलन देवी जैसा बड़ा नाम भी था। 

ये भी पढ़े :  क्रिकेटर सुरेश रैना,सिंगर गुरु रंधावा और सुजेन खान अरेस्ट, बाद में मिला बेल, ये है आरोप…

ये भी पढ़े : घोटाले में नीरव मोदी को भी पीछे छोड़ा, बैंकों को 8000 करोड़ का लगाया चूना, पूर्व सांसद पर केस दर्ज  

Daily Update के लिए अभी डाउनलोड करे : MP samachar का मोबाइल एप 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here