New Year 2021 Rashi नए साल में शनि और राहु नहीं करेंगे राशि परिवर्तन, जानिए 

0
249

मेष राशिफ़ल 2021 : वर्ष के प्रारंभ में आत्मविश्वास से परिपूर्ण तो रहेंगे, परंतु मन परेशान भी हो सकता है। परिवार में व्यर्थ के वाद-विवाद से बचें। चार जनवरी से जीवनसाथी के स्वास्थ्य में सुधार होगा। वाहन प्राप्ति के योग भी बनेंगे। कारोबार की स्थिति निरंतर मजबूत होती रहेगी। पिता का सहयोग मिलता रहेगा।

खर्च अपेक्षाकृत कम ही रहेंगे, परंतु जीवनशैली का ध्यान रखें। जीवनशैली में व्यवधान आ सकते हैं। 17 मार्च से पुनः जीवनसाथी के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। कुटुम्ब की किसी बुजुर्ग महिला का स्वास्थ्य भी खराब हो सकता है। खर्च अधिक रहेंगे। नौकरी में किसी मित्र के सहयोग से परिवर्तन के अवसर मिल सकते हैं। किसी दूसरे स्थान पर भी जाना पड़ सकता है। छह सितंबर से अपने स्वास्थ का ध्यान रखें। 15 सितंबर से धार्मिक कार्यों में व्यस्तता बढ़ सकती है। शैक्षिक कार्यों में सफलता मिलेगी। किसी रुके हुए धन की प्राप्ति हो सकती है।
उपाय-1.
प्रत्येक मंगलवार के दिन रोटी में गुड़ रखकर गाय को खिलाएं।
2. प्रत्येक बुधवार के दिन हरी सब्जी गाय को खिलाएं अथवा गणपति पर दुर्वा घास अर्पित करें।
3. प्रत्येक शुक्रवार के दिन एक मुट्ठी चावल लेकर किसी बर्तन में इकट्ठा करते रहें। एक किलो के लगभग होने पर मंदिर के पुजारी को दे दें।

 

वृषभ राशिफल 2021 : किसी अज्ञात भय से परेशान रहेंगे। वर्ष के प्रारंभ में परिवार की समस्याएं भी हो सकती हैं। चिकित्सीय खर्च अधिक हो सकते हैं। 22 फरवरी से जीवनसाथी के स्वास्थ्य में सुधार होगा परंतु धैर्यशीलता बनाए रखने के प्रयास करें। कारोबार की स्थिति में सुधार होगा। लाभ के अवसर भी मिलेंगे।

नौकरी में तरक्की के मार्ग प्रशस्त होंगे, परंतु 15 सितंबर के बाद कार्यक्षेत्र में परिवर्तन भी हो सकता है। घर-परिवार में धार्मिक कार्य होंगे। धन प्राप्ति के योग भी बन रहे हैं। 19 अक्तूबर के बाद शैक्षिक व बौद्धिक कार्यों के सुखद परिणाम मिलेंगे। संतान की ओर से सुखद समाचार मिलेंगे। 21 नवंबर के उपरांत किसी पुराने मित्र से भेंट हो सकती है। आय वृद्धि के साधन विकसित हो सकते हैं।
उपाय-
1. घर में और पूजा-पाठ में चंदन की सुगंध की धूप या अगरबत्ती उपयोग में लाएं। चंदन का इत्र नहाने के पानी में डालकर नहाएं।
2. शनिवार के दिन लोटे में जल भरकर उसमें चुटकीभर काले तिल तथा दो बूंद सरसों का तेल डालकर शिवलिंग पर जल की धार बनाकर जल अर्पित करें।
3. बृहस्पतिवार के दिन किसी मंदिर में पांच केले के पौधे लगाएं।

 

मिथुन राशिफल 2021 : वर्ष के प्रारंभ धैर्यशीलता में कमी रहेगी। पांच जनवरी से 25 जनवरी के मध्य मन परेशान हो सकता है। परिवार की समस्याएं परेशान कर सकती हैं। रहन-सहन भी अव्यवस्थित रहेगा। नौकरी में 15 जनवरी के उपरांत कार्यक्षेत्र में परिवर्तन के योग बन रहे हैं। 22 फरवरी से आय में कमी आ सकती है। सेहत का ध्यान रखें। कारोबार में परिश्रम अधिक रहेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। 16 अप्रैल के बाद शैक्षिक कार्यों में सुधार होगा। धर्म के प्रति श्रद्धा भाव रहेगा। धन की स्थिति में सुधार होगा। नौकरी में किसी विशेष प्रयोजन से विदेश यात्रा के योग बन रहें हैं। यात्रा लाभप्रद रहेगी। 24 मई के उपरांत किसी पुराने मित्र से भेंट हो सकती है। छह सितंबर के बाद किसी सम्पत्ति से धन लाभ हो सकता है। पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। वस्त्रों आदि पर खर्च अधिक हो सकते हैं।
उपाय-
1. प्रत्येक शनिवार के दिन शाम के समय पीपल के वृक्ष के नीचे सरसों के तेल के दीपक में थोड़ी सी उड़द की दाल डालकर, दीपक जलाएं।
2. चंदन के इत्र को नहाने के पानी में डालकर स्नान किया करें। पूजा-पाठ में चंदन की सुगंध की धूप या अगरबत्ती जलाया करें।
3. मंगलवार के दिन लाल कपड़े में गुड़ बांधकर मंदिर में हनुमान जी के चरणों में अर्पित किया करें।

 

सिंह राशिफल 2021 : वर्ष के प्रारंभ में आत्मविश्वास से लबरेज रहेंगे, परंतु धैर्यशीलता में कमी रहेगी। किसी पैतृक संपत्ति की प्राप्ति हो सकती है। पांच अप्रैल तक शैक्षिक कार्यों में व्यवधान रहेंगे, तदुपरांत शैक्षिक कार्यों में सफलता मिलेगी। 14 अप्रैल के बाद किसी संपत्ति से धन लाभ के योग बन रहे हैं। 24 मई के बाद नौकरी में स्थान परिवर्तन की भी संभावना बन रही है।

वाहन सुख में वृद्धि हो सकती है। कारोबार में वृद्धि होगी। लाभ के अवसर मिलेंगे। भाई-बहनों का साथ भी मिल सकता है। 15 सितंबर के बाद किसी मित्र के सहयोग से धन प्राप्ति के योग बन रहे हैं। 21 नवंबर के उपरांत नौकरी में कोई अतिरिक्त जिम्मेदारी मिल सकती है। आय में वृद्धि होगी। संतान की ओर से सुखद समाचार मिल सकते हैं।
उपाय-
1. प्रत्येक बुधवार के दिन गणेश स्त्रोत्र का पाठ करें। गाय को हरा चारा या हरी सब्जी खिलाया करें।
2. प्रत्येक बृहस्पतिवार के दिन लोटे में जल भरकर उसमें आधी चम्मच हल्दी, नौ दाने चने की दाल तथा थोड़ी सी चीनी डालकर केले के पेड़ पर चढ़ाया करें।
3. नित्य हनुमान चालीसा का पाठ करें।

 

तुला राशिफल 2021 : वर्ष के प्रारंभ में क्रोध की अधिकता हो सकती है। आत्मविश्वास में कमी रहेगी। कारोबार में परिश्रम अधिक रहेगा। 15 जनवरी के बाद पिता के स्वास्थ का ध्यान रखें। रहन-सहन भी अव्यवस्थित रहेगा। 22 फरवरी से जीवनसाथी को स्वास्थ्य विकार हो सकता है। परिश्रम अधिक रहेगा। 24 मई के बाद नौकरी में परिवर्तन के योग बन रहे हैं। किसी दूसरे स्थान पर भी जाना पड़ सकता है। परिवार से अलगाव हो सकता है। 22 जून से धर्म के प्रति श्रद्धा भाव बढ़ सकता है। शैक्षिक व बौद्धिक कार्यों में रुचि बढ़ेगी। छह सितंबर के उपरांत जीवनसाथी के स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें। चिकित्सीय खर्च बढ़ सकते हैं। कार्यक्षेत्र में परिश्रम अधिक रहेंगे। मित्रों से विवाद की स्थिति बन सकती है। 22 अक्तूबर से पारिवारिक स्थिति में सुधार होगा, परंतु धैर्यशीलता में कमी भी हो सकती है।
उपाय-
1. प्रतिदिन ‘गणेश स्तोत्र’ का पाठ करें।
2. मंगलवार के दिन लाल कपड़े में गुड़ बांधकर हनुमान जी के चरणों में अर्पित करें।
3. शुक्रवार के दिन सफेद वस्त्र पहनें तथा यथाशक्ति चावल का दान करें।

 

मकर राशिफल 2021 : वर्ष के प्रारंभ में मन प्रसन्न रहेगा। आत्मविश्वास से परिपूर्ण रहेंगे। पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। 5 जनवरी से कारोबार की स्थिति में सुधार होगा। भवन सुख में वृद्धि हो सकती है। पिता से धन की प्राप्ति हो सकती है। परंतु पिता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। वस्त्रों पर खर्च बढ़ सकते हैं। छह अप्रैल से धन की स्थिति में सुधार होगा। कुटुम्ब/परिवार में धार्मिक कार्य होंगे। किसी परिचित के सहयोग से नौकरी के अवसर मिल सकते हैं। अथवा किसी नए कारोबार का प्रस्ताव मिल सकता है। 24 मई से मन में नकारात्मका विचारों से बचने का प्रयास करें। आय में कमी आ सकती है। रहन-सहन कष्टमय हो सकता है। 12 अक्तूबर से परिस्थितियों में सुधार होगा। 21 नवंबर से धन की स्थिति में सुधार होगा। 6 दिसंबर के बाद संपत्ति से धन की प्राप्ति हो सकती है।
उपाय-
1. नित्य हनुमान चालीसा का पाठ करें।
2. प्रतिदिन प्रातः तांबे के लोटे में जल भरकर उसमें थोड़े से चालव, चीनी व रोली डालकर भगवान सूर्य की तरफ मुंह कर जल अर्पित किया करें।
3. बुधवार के दिन गाय को हरा चारा या हरी सब्जी खिलाया करें।

 

धनु राशिफ़ल 2021 : वर्ष के प्रारंभ में क्रोध व आवेश की अधिकता हो सकती है। चार फरवरी के बाद किसी पुराने मित्र का आगमन हो सकता है। उपहार में वस्त्रों की प्राप्ति हो सकती है। 22 फरवरी से अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें। चिकित्सीय खर्च बढ़ सकते हैं। नौकरी में तरक्की के अवसर मिल सकते हैं। परंतु स्थान परिवर्तन भी हो सकता है। छह अप्रैल के बाद कार्यक्षेत्र में बदलाव हो सकता है। आय में वृद्धि होगी। धर्म के प्रति श्रद्धाभाव बढ़ सकता है। 24 मई से यात्रा अधिक रहेंगी। अनियोजित खर्च बढ़ेंगे। शैक्षिक कार्यों में व्यवधान आ सकते हैं। संतान के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। 15 सितंबर के बाद से किसी मित्र के सहयोग से धन लाभ हो सकता है। 12 अक्तूबर से माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। रहन-सहन कष्टमय हो सकता है। 21 नवंबर से धर्म-कर्म में व्यस्तता बढ़ सकती है।
उपाय-
1. प्रतिदिन प्रातः ‘आदित्य हृदय स्त्रोत्र’ का पाठ करके तांबे के लोटे में जल भरकर उसमें थोड़े से चावल, चीनी या गुड़ तथा रोली डालकर जल भगवान सूर्य को अर्पित किया करें।
2. पीली धातु (स्वर्ण) अपने शरीर पर (हाथ में या गले में) धारण करें।
3. 21 ग्राम चांदी का कड़ा दाहिने हाथ में धारण करें।

 

कुम्भ राशिफल 2021 : वर्ष के प्रारंभ में मन परेशान रहेगा। धैर्यशीलता में कमी रहेगी। स्वास्थ्य में भी गड़बड़़ी हो सकती है। 22 फरवरी से कार्यक्षेत्र में परिश्रम की कमी आएगी। भवन या संपत्ति में विस्तार हो सकता है। पिता का सहयोग मिलेगा। अनियोजित खर्च अधिक रहेंगे। छह अप्रैल से शैक्षिक कार्यों में सुधार होगा।

दांपत्य सुख में वृद्धि हो सकती है। 24 मई के बाद नौकरी में कार्यक्षेत्र में परिवर्तन के योग बन रहे हैं। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां रहेंगी। अफसरों से वाद-विवाद से बचें। 15 सितंबर के बाद घर-परिवार में धार्मिक/मांगलिक कार्य हो सकते हैं। भवन के रखरखाव तथा साज-सज्जा के कार्यों पर खर्च बढ़ेंगे। 12 अक्तूबर के बाद परिवार के साथ यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। 21 नवंबर से शैक्षिक कार्य सुचारू होंगे। परिवार में सुख-शांति रहेगी। आय सुचारु रहेगी।


उपाय-
1. प्रतिदिन भगवान शिव की आराधना किया करें। शिवलिंग पर जल में दूध मिलाकर अभिषेक किया करें।
2. प्रत्येक बुधवार के दिन प्रातः गणेश चालीसा या गणेश स्त्रोत्र का पाठ किया करें।
3. 21 ग्राम चांदी की कड़ा सीधे (दाहिने) हाथ में धारण करें।

 

मीन राशिफल 2021 : वर्ष के प्रारंभ में मन प्रसन्न रहेगा। शैक्षिक व बौद्धिक कार्यों में सफलता मिलेगी। कारोबार की स्थिति संतोषजनक रहेगी। आय में वृद्धि होगी। छह अप्रैल से शैक्षिक कार्यों में कठिनाई आ सकती है। घर-परिवार में धार्मिक/मांगलिक कार्य हो सकते हैं। 14 अप्रैल के बाद परिवार में व्यर्थ के वाद-विवाद से बचने का प्रयास करें।

 

नौकरी में परिवर्तन के अवसर मिल सकते हैं। उच्च पद की प्राप्ति हो सकती है। वाहन की प्राप्ति होगी। 15 सितंबर के बाद शैक्षिक कार्यों में पुनः सफलता मिलेगी। 12 अक्तूबर से मन कुछ परेशान हो सकता है। कारोबार के लिए विदेश यात्रा के योग बन रहे हैं। यात्रा लाभप्रद रहेगी। 21 नवंबर के बाद परिवार की सुख-सुविधाओं का विस्तार होगा। भवन के साज-सज्जा के कार्यों पर खर्च बढ़ेंगे। कारोबार का विस्तार होगा।
उपाय-
1. सवा पांच रत्ती का पुखराज सोने की अंगूठी में जड़वाकर धारण करें।
2. प्रतिदिन ‘आदित्य हृदय स्त्रोत्र’ का पाठ किया करें।

 

Daily Update के लिए अभी डाउनलोड करे : MP samachar का मोबाइल एप 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here