चलो-चलो… वाले कमलनाथ को जनता ही चलता करेगीः चौहान

0
118
shivraj-kamalnath

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ से उनके मंत्री-विधायक कहते थे कि अस्पताल का उन्नयन कर दो तो वे कहते थे कि चलो…चलो…। कोई उनसे अपने क्षेत्र में बांध मांगता था तो वे कहते थे कि चलो…चलो…। कोई उनसे कहता था कि उनके क्षेत्र के किसानों की फसलें खराब हो गईं हैं मुआवजा दे दो, तो वे कहते थे कि चलो…चलो…। अब ये चलो…चलो… वाले कमलनाथ को तो प्रदेश की जनता की चलता करेगी। इन्होंने जनता की भलाई के लिए चलाई गई भाजपा सरकार की योजनाओं को ही बंद कर दिया था। विकास के काम ठप्प कर दिए। ये बातें मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कही। वे बुधवार को बड़ामलहरा विधानसभा एवं सुरखी विधानसभा के सिहोरा में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने सांची विधानसभा के हरदौत में बूथ सम्मेलन और ब्यावरा विधानसभा के लखनबात में जनसभा को भी संबोधित किया।

राहुल गांधी की बात भी नहीं मान रहे दादा कमलनाथ

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने डबरा में भाषण दिया। हमारी मंत्री इमरती देवी को अपशब्द कहे। इमरती देवी श्री कमलनाथ की कैबिनेट में भी मंत्री रहीं, लेकिन वे उनका नाम नहीं याद रख पाए। कमलनाथ कह रहे हैं कि मैं तो नाम ही भूल गया, इसलिए आइटम कह दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि कमलनाथ को क्या अधिकार है कि वे एक दलित मंत्री का इस तरह से अपमान करें? बहन इमरती देवी की आंखों में आंसू पूरे हिन्दुस्तान ने देखें हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह वह धरती है जहां पर सीता मैया का अपमान रावण ने किया था और उसका हश्र ये हुआ कि रावण के वंश में उसका कोई नाम लेवा भी नहीं बचा था। रावण को भी उनके कई सहयोगियों ने समझाया कि वे सीता मैया को छोड़ दें। विभीषण ने भी समझाया, लेकिन विभीषण को लात मारकर हटा दिया। अब श्री कमलनाथ को भी उनके कई सहयोगी एवं श्री राहुल गांधी ने भी समझाया, लेकिन दादा कमलनाथ तो श्री राहुल गांधी की भी नहीं मान रहे हैं। अब इनका क्या हश्र होगा, ये तो जल्द ही पता चल जाएगा?

वे तो लुटेरे थे, भ्रष्टाचार की मंडी बना दिया

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस की सरकार ने मध्यप्रदेश को और वल्लभ भवन को भ्रष्टाचार की मंडी बनाकर रख दिया। वे तो लुटेरे थे। प्रदेश को लूट रहे थे, प्रदेश की जनता को लूट रहे थे, गुमराह कर रहे थे, लेकिन हमने मध्यप्रदेश को गढ़ा है, ऐसे ही लूटने नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना काल चल रहा है। मैं स्वीकार करता हूं कि बजट की कमी है, लेकिन फिर भी हमने विकास के कार्यों को रूकने नहीं दिया है। सतत जारी है।

कांग्रेस की 15 माह की सरकार में श्री कमलनाथ ने कोई विकास के कार्य नहीं कराए। हमेशा पैसों का रोना रोया। उनके पास कोई भी मंत्री-विधायक अपने क्षेत्र के विकास के काम लेकर जाता था तो वे उनके सामने सिर्फ पैसों का रोना रोते थे। ऐसे लोगों को राजनीति करने का भी अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री वह होता है, नेता वह होता है, जनप्रतिनिधि वह होता है जो विपरीत परिस्थितियों में भी जनता के काम आए, उनकी सहायता करे, लेकिन कमलनाथ ने तो कुछ भी नहीं किया। क्या ऐसे व्यक्ति को प्रदेश का मुख्यमंत्री रहना चाहिए था?

ये चुनाव मुख्यमंत्री भी तय करेगा

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि यह कोई आम उपचुनाव नहीं है। ये उपचुनाव बेहद खास हैं। इन उपचुनावों से ही तय होगा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री कौन रहेगा? ये प्रदेश की जनता के विकास का उपचुनाव है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की विचित्र स्थिति हो गई है। मैं जनता के सामने उन्हें घूटने टेककर प्रणाम करता हूं तो कांग्रेस के नेता कहते हैं कि शिवराज सिंह ने तो जनता के सामने घूटने टेक दिए हैं। मैं विकास के कार्य करता हूं तो वे कहते हैं कि शिवराज सिंह तो हाथ में नारियल लेकर चलता है। उन्होंने कहा कि ये कांग्रेस को कौन समझाए कि लोकतंत्र में जनता ही भगवान होती है और भगवान के सामने घूटने टेककर ही प्रणाम किया जाता है, भगवान को ही नारियल चढ़ाया जाता है।

उन्हें परंपराएं नहीं पता

मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री कमलनाथ मुझे नंगा-भूखा कहते हैं। वे तो सेठ हैं, उद्योगपति हैं, कहां से आएं हैं पता ही नहीं। मैं तो जैत गांव में एक छोटे से घर में जन्मा हूं, लेकिन उनका तो पता ही नहीं है कि वे कहां से आकर मध्यप्रदेश में बस गए हैं। वे मध्यप्रदेश को नहीं जानते, यहां की परंपराओं, रीति-रिवाजों को नहीं जानते हैं। बंदेलखंड को नहीं जानते हैं। आल्हा-उदल कौन थे उन्हें ये भी नहीं पता है। वे हमको कोस रहे हैं, हमारी सरकार द्वारा किए गए विकास के कार्यों को कोस रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस की हालत ऐसी हो गई है कि उसके कई टुकड़े हो गए हैं। कोई यहां गिरा, कोई वहां गिरा। एक टुकड़े को राहुल गांधी उठा ले गए, एक को दिग्विजय सिंह उठा ले गए तो एक को कमलनाथ ने उठा लिया।

विकास में नहीं आएगी कोई कमी

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि 15 साल तक प्रदेश के विकास में कोई कमी नहीं छोड़ी है। हर क्षेत्र में विकास किए हैं और अब हम हमारे ही विकास के रिकार्डों को तोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि बड़ामलहरा क्षेत्र में भी विकास की गंगा बहाई जाएगी। यहां पर कॉलेज खोलने की घोषणा हमने की थी और खोला भी है। अब यहां पर कृषि महाविद्यालय भी बनाया जाएगा। किसानों को पानी एवं पेयजल की पूर्ति के लिए भी योजनाएं बनाई गईं हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह भूमि हमारी बहन साध्वी उमाजी की कर्मभूमि है। मैं उन्हें प्रणाम करता हूं। वे सचमुच में चमत्कारी नेता हैं। उन्होंने संकल्प लिया था कि अयोध्या की श्रीराम जन्मभूमि पर श्रीराम का मंदिर बनना चाहिए और आज वहां पर काम चल रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ और मेरी मीटिंग होने वाली है। हम बैठकर केन-बेतवा पर चर्चा करेंगे और छतरपुर जिले के गांव-गांव में पानी पहुंचाएंगे। छतरपुर सहित टीकमगढ़, पन्ना एवं बुंदेलखंड की धरती को खेती के मामले में पंजाब से भी आगे कर देंगे।

माताओं-बहनों और बेटियों का अपमान नहीं सहेंगे

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि माताओं, बहनों और बेटियों के मान-सम्मान और अभिमान में कभी कमी नहीं होने दूंगा। सीता, सती, सावित्री हैं बेटियां, दुर्गा, लक्ष्मी, सरस्वती हैं बेटियां और ये कमलनाथ उनका अपमान कर रहे हैं। माताएं, बहनों और बेटियों का अपमान किसी भी कीमत पर सहन नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि इस धरती की महिलाओं का अपमान कभी मत करना, प्रदेश की जनता से बुरा कोई नहीं होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कमलनाथ मुझे कलाकार बता रहे हैं और कह रहे हैं कि मैं शाहरूख खान को मात कर रहा हूं, लेकिन मैं तो आज तक शाहरूख खान से मिला ही नहीं। मैं तो अपनी जनता के बीच में रहता हूं, उसकी सेवा में लगा रहता हूं। वे तो सेठ हैं, साहूकार हैं, उद्योगपति हैं। क्या राजनीति करने का अधिकार इन्हें ही है, किसी पिछड़े को राजनीति में आने का अधिकार नहीं है।

वचन निभाने वाली सरकार तो भाजपा की हैः गोपाल भार्गव

सुरखी में आयोजित सभा में वरिष्ठ मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि वचन-पत्र तो कांग्रेस ने तैयार किया था, लेकिन एक भी वचन पूरा नहीं किया। वचन और वादे पूरे करने वाली सरकार तो भारतीय जनता पार्टी की सरकार है। हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता से वादा किया था कि श्रीराम मंदिर निर्माण होगा। अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण का कार्य चल रहा है। इस मंदिर के लिए हम सबको भी ईंट लेकर चलना है। उन्होंने कहा कि 20 साल तक विपक्ष में रहकर देखा है कि बदनसीबी, लाचारी क्या होती है? कांग्रेस की सरकारों ने कभी भी बुंदेलखंड की चिंता नहीं की।

हमारे मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने 15 सालों में विकास के ऐसे कार्य किए हैं, जो अब तक कभी नहीं हुए। उन्होंने गरीबों, किसानों, युवाओं, महिलाओं के लिए कई योजनाएं शुरू कीं। मुख्यमंत्री कन्यादान जैसी महत्ती योजना से लाखों बेटियों के हाथ पीले किए। लाड़ली लक्ष्मी योजना से बेटियों का भविष्य सुरक्षित किया। गरीबों की मौत पर कफन के पांच हजार रूपए देने शुरू किए। उनकी मौत पर परिवार को आर्थिक मदद के तौर पर 4 लाख रूपए देने शुरू किए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार ने सिर्फ वचन दिए थे, जिनको पूरा करने का काम भारतीय जनता पार्टी ने किया है।

यह उपचुनाव मध्यप्रदेश का भविष्य तय करेगाः भूपेंद्र सिंह

सुरखी में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि यह उपचुनाव मध्यप्रदेश का भविष्य तय करेगा। सुरखी विधानसभा का भविष्य तय करेगा। यह विकास का अवसर है, इसलिए इस अवसर को जाने नहीं देना है। उन्होंने कहा कि अब तक सुरखी से विधायक कोई होता था तो सरकार कोई ओर होती थी, लेकिन इस बार सरकार भी भाजपा की है तो विधायक भी भाजपा का ही चुनें।

उन्होंने कहा कि कमलनाथ उद्योगपति हैं और उनका लेना-देना भी उद्योगपतियों से ही है। कमलनाथ को आम जनता से किसानों से कोई लेना-देना नहीं है, इसलिए हमें विधायक और सरकार ऐसी चुननी है, जो आम जनता के लिए सोचे और क्षेत्र का विकास करे। उन्होंने कहा कि हमारे मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान यदि किसान की फसल खराब हो जाती है तो उसके खेत में तुरंत पहुंच जाते हैं, लेकिन ये कमलनाथ ने प्रदेश के किसानों की खराब हुई फसलों का मुआवजा तक नहीं दिया। किसानों से कर्जमाफी का वादा कर लिया, लेकिन उनकी कर्जमाफी नहीं की। इस बार किसी भी लालच में नहीं आना है।

दल ही नहीं, दिल भी बदला हैः गोविंद सिंह राजपूत

सुरखी विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी श्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि मैंने दल ही नहीं, बल्कि अपना दिल भी बदला है। मैंने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से नम्रता सीखी है। एक मुख्यमंत्री वे थे, जो न हमसे मिलते थे और न ही उनके पास बात करने का समय था। वे तो हंसते भी अपने मूड के अनुसार ही थे, लेकिन भाजपा में आकर मैंने सीखा है कि नम्रता कैसे होती है। उन्होंने कहा कि मैं शिवराज सिंह चौहान को आदर्श मानते हुए कसम खाता हूं कि कोई गलती नहीं करूंगा।
मुख्यमंत्री के सामने भाजपा में शामिल हुए कांग्रेस नेता

बड़ामलहरा में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में कांग्रेस के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इस दौरान वरिष्ठ मंत्री श्री गोपाल भार्गव, चुनाव प्रबंधन समिति के अध्यक्ष एवं मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह, सांसद राजबहादुर सिंह, प्रदेश महामंत्री श्री हरिशंकर खटिक, पूर्व सांसद श्री लक्ष्मीनारायण यादव, विधायक श्री प्रदीप लारिया, छतरपुर भाजपा जिलाध्यक्ष श्री मलखान सिंह, सागर जिलाध्यक्ष श्री गौरव सिरोठिया, प्रत्याशी श्री प्रद्युम्न सिंह लोधी, विधायक श्री राहुल लोधी, विधायक श्री राजेश प्रजापति, पूर्व मंत्री श्रीमती ललिता यादव, पूर्व विधायक श्रीमती रेखा यादव, श्री चंद्रभान सिंह, श्री घासीराम पटेल, श्री अरविंद पटैरिया, श्री राकेश गिरी, श्रीमती सोना बाई अहिरवार, श्रीमती उमादेवी खटिक पूर्व विधायक, श्री जयनारायण अग्रवाल, श्री देवेंद्र सिंह, श्री पुष्पेंद्र सिंह कटारा, श्री जुझारसिंह बुंदेला, श्री जयराम चतुर्वेदी सहित पदाधिकार, कार्यकर्ता एवं बड़ी संख्या में आमजन मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here