भारत सरकार के सख्‍त रुख के बाद लाइन पर आया Twitter, मांगी माफी

0
50
twitter
file photo

भारत का गलत नक्‍शा दिखाने के मामले में सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय द्वारा दी गई चेतावनी के बाद ट्विटर ने लिखित में माफी मांग ली है। साथ ही कहा है कि वह 30 नवंबर तक अपनी गलती सुधार कर सब कुछ ठीक कर लेगा। ट्विटर द्वारा लेह को लद्दाख की बजाय जम्‍मू-कश्‍मीर का हिस्‍सा दिखाए जाने के बाद मंत्रालय ने Twitter को नोटिस जारी किया था। साथ ही इस मामले पर जबाव मांगते हुए उसके प्रतिनिधियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी थी।  

ये भी पढ़े : Apple जल्द लाएगा अपना फोल्डेबल iPhone, जानिए कब तक 

ये है मामला 

9 नवंबर को Twitter ने लेह (Leh) को केन्‍द्र शासित प्रदेश लद्दाख के बजाय जम्मू-कश्मीर के हिस्‍से के रूप में दिखाया था। इसके बाद मंत्रालय ने ट्विटर के ग्‍लोबल वाइस प्रेसिडेंट को भेजे गए अपने नोटिस में लिखा था कि ‘ट्विटर ने यह जान-बूझकर किया है। उसने लेह को जम्मू-कश्मीर के हिस्से के रूप में दिखाकर भारत की संप्रभु संसद की इच्छा को कम करने के लिए ये कदम उठाया है, जिसने लद्दाख को भारत का एक केंद्र शासित प्रदेश घोषित किया था।’ बता दें कि लेह, केन्‍द्र शासित प्रदेश लद्दाख का मुख्‍यालय है। 

 5 दिन का दिया था अल्‍टीमेटम 

मंत्रालय ने अपने नोटिस में ट्विटर को 5 कार्यदिवसों का समय देते हुए निर्देश दिया था कि वह ‘यह बताए कि गलत मानचित्र दिखाकर भारत की क्षेत्रीय अखंडता का अपमान करने के लिए ट्विटर और उसके प्रतिनिधियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई क्‍यों न शुरू की जाए।’ 

इससे पहले ट्विटर ने लेह को पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना का हिस्सा दिखाया था, इस पर इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय के सचिव ने ट्विटर के सीईओ जैक डोर्से को पत्र लिखकर इस पर आपत्ति जताई थी। तब ट्विटर ने लेह को चीन के नक्‍शे से हटा दिया था। लेकिन ट्विटर ने लेह को केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख का हिस्सा नहीं दिखाया था, जो कि भारत सरकार की आधिकारिक स्थिति के खिलाफ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here