चुनावी दौर में कांग्रेस-बीजेपी अपनी सभाओ में एक दूसरे को बना रहे निशाना

0
50
BJP-congress

मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव (By-Election) बड़ा ही रोमांचक चल रहा है। चुनाव (By-Election) हमेशा बात करने के लिए और लोगो को लुभाने के लिए कुछ ना कुछ मिर्च मसाला देता ही रहता है।  अब जो जनता का दिल जीतने के लिए सभाये चल रही है। उनमे एक दूसरे के विरोध में प्रत्याशी कड़क तंज कसते नजर आ रहे है।

पायलट का ‘शगुन’ लाया कमलनाथ के चहरे पर मुसकान –  

ग्वालियर-चंबल में चुनावी (By-Election) प्रचार कांग्रेस और बीजेपी के लिये बहुत मेहनत मांग रहा है। इसी मेहनत से नेता भी पसीना-पसीना हैं और पस्त भी हो रहे हैं। इस अंचल में इन दिनों राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री व कांग्रेस के युवा नेता सचिन पायलट सक्रिय हैं। कल कमलनाथ से उनकी मुलाकात एक चुनावी मंच पर हुई।

ग्वालियर सीट से कांग्रेस प्रत्याशी सुनील शर्मा के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए पायलट ने जब यह कहा कि ‘उपचुनाव में तो मेरा शगुन बढ़िया रहता है, अब मैं यहां आया हूं तो इतना सुनते ही मंच पर बेहद थके नजर आ रहे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का चेहरा खिल उठा।

बताया जाता है कि जब पायलट का संबोधन चल रहा था तब नाथ असहज नजर आ रहे थे, वजह प्रचार अभियान की थकान माना जा रही थी। मगर पायलट ने शगुन को स्पष्ट करते हुऐ कहा कहा- ‘मैं लगभग छह-सात साल तक राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रहा। कमलनाथ जी आपको सुनकर खुशी होगी, कि इस दौरान 27 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुये थे। और उन 27 जगहों में से 25 पर कांग्रेस जीती थी। जबकि वहां भाजपा का शासन था। अब मुझे लग रहा है कि ग्वालियर-चंबल में कांग्रेस की लहर है।’

ये भी पढ़े : शिवराज सिंह हेलीकॉप्टर से आएंगे रायसेन, जनसभा को करेंगे सम्बोधित

बीजेपी के विरोधी लगा रहे पैतरे –

बीजेपी के उम्मीदवार अपने विरोधियों के पैंतरों से हैराना हैं। यह सिलसिला सांची से लेकर सुवासरा तक और चंबल से लेकर अनूपपुर तक जारी है। विरोध अपनों से भी मिल रहा है और ‘गैरों’ से भी। सुवासरा में हरदीप सिंह डंग खासी मुश्किल में हैं। चुनाव घोषित होने से पहले भी कुछ सभाओं में उन्हें खुले विरोध का सामना करना पडा था।

अब कांग्रेस ने विरोध का अनोखा तरीका निकाला है। कांग्रेस का आरोप है कि डंग ने क्षेत्र के वोटर का सौदा किया है और दलबदल के लिए 35 करोड रुपए लिए हैं।लिहाजा शामगढ में कांग्रेस कार्यकर्ता रोज सुबह 6 बजे से प्रभात फेरी निकाल रहे हैं, जिसके माध्यम से जागरुकता फैलाने की कोशिश की जा रही है। ढोलक और मंजीरों के साथ यह कार्यकर्ता- जागो रे जागो,जनता जागो के गीत गाते हुए गली-मोहल्ले की सडकों पर हरदीपसिंह डंग को गद्दार बताते हुए हिसाब मांगते हैं, हरदीप बीजेपी का खेमा काट ढंढने की कोशिश कर रहा है।

ये भी पढ़े : By-election से पहले मिला सपा को झटका, सपा के यह नेता हुए बीजेपी में शामिल 

चुनाव में चली कांग्रेस-बीजेपी की दुकान –

इस बार चुनाव के चकर में कांग्रेस-बीजेपी जैसे बडे दलों के ऐसे नेताओं की भी ‘दुकानें’ चल गई हैं जो अभी अगले तीन और वर्ष के इंतजार में घर बैठ गये थे। लेकिन दो साल के पहले भी चुनाव का मौका आ जाने के बाद कई नेताओं के कुर्ते पाजामों में कलफ लग गया है, और बयानं की बहार आ गई है।

खास बात यह है कि दोनों दलों के लिये वत इस कदर गाढा है कि उन्हें अपने हर नेता और कार्यकर्ता की जरूरत पड रही है। चुनाव भले ही सीमित सीटों पर हो रहा है लेकिन इसका असर असीमित है, इसे भांपकर स्थानीय नेताओं को उनके दलों द्वारा खूब साधन संसाधन मिल रहे हैं। एक नेता का कहना है कि इस उपचुनाव में इतनी रसद इक हो जायेगी कि अगले तीन साल आसानी से कट जायेंगे।

ये भी पढ़े : कांग्रेस के प्रत्याशी पर FIR दर्ज, जानिए क्यों और क्या है मामला

दिग्गी ने किये सिंधिया पर चुन चुन कर वार –

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के फिनिशर वाले बयान के बाद बीजेपी नेता सतर्क भी हैं और इसे पूरी सतर्कता के साथ खारिज करने और करवाने में जुटे हैं। दरअसल सिंह ने तीन दिन के दौरे के लिये जो इलाका चुना है। वह बीजेपी के लिये परेशान करने वाला है क्योकि इसे ज्योतिरादित्य सिंधिया के दखल और प्रभाव वाला माना जाता है। दिग्विजय भी इस इलाके में कल से सिंधिया पर चुन-चुनकर वार कर रहे हैं। इसका असर निमाड़ मालवा तक है, जहां के बीजेपी वॉर रूम प्रभारी गोविंद मालू ने कहने में देर नहीं की कि जब घर में ब्याह हो रहा है तो घर के मुखिया को यों आखिरी में मैदान में उतारा है। मालू ने उन्हें कांग्रेस के रिजेट माल भी बताया है। बीजेपी नेता भी उन्हें महेंद्र सिंह धोनी जैसा बेस्ट मैच फिनिशर मानने के बजाए कांग्रेस को फिनिश करने वाला बताने से नहीं चूक रहे।

ये भी पढ़े : कोविड-19 के पिछले 24 घंटे में 43,893 नए मामले, आंकड़ा 79 लाख पार

Daily Update के लिए अभी डाउनलोड करे : MP samachar का मोबाइल एप

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here