अब एक्टर के साथ महाराजा भी – पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ

0
74
kamalnath

उपचुनाव को लेकर चुनावी सरगर्मिया तेज़ हो गयी है। सभी प्रत्याशी अपनी पार्टी के प्रचार प्रसार में जोर शोर से लगे हुए है। इसी बीच मुरैना जिले की दिमनी विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशी रविंद्र सिंह तोमर के समर्थन में आयोजित विशाल जनसभा में देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा “ बड़ा ही आश्चर्य हुआ कि शिवराज सिंह ग्वालियर-चंबल के विकास को लेकर मुझसे सवाल पूछ रहे है , 15 वर्ष प्रदेश में जिनकी  सरकार रही , वह 15 माह की सरकार से जवाब मांग रहे हैं ? जवाब तो शिवराज जी को ख़ुद देना चाहिए , 15 साल आप मुख्यमंत्री रहे और ज्योतिरादित्य सिंधिया को जो यहां के वर्षों तक जनप्रतिनिधि रहे , मुझसे कौन सा जवाब आप मांग रहे हैं ? लेकिन चलो आपने पहली बार सच बोला ,सच्चाई स्वीकार करी कि ग्वालियर-चंबल में कोई विकास नहीं हुआ है “

 

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि चंबल की इस माटी को प्रणाम , जिसने आजादी का संदेश दिया ,सालों बाद हमारा ग्वालियर-चंबल आजाद हुआ।

 

आज सरकार के इशारे पर प्रशासन ने सभा में आने से लोगों को रोकने का काफ़ी प्रयास किया , खूब अवरोध खड़े किए लेकिन ऐतिहासिक जनसैलाब ने सभा में आकर मुझे व कांग्रेस को बल एवं शक्ति दी है।

 

kamalnath

मै आपको बताना चाहता हूँ कि हमने ख़ाली खजाने से 27 लाख किसानों का क़र्ज़ा माफ किया , शिवराज जी ख़ूब झूठ बोलते रहे लेकिन आखिर में उनको विधानसभा में सच्चाई स्वीकार करना पड़ी।हम आपको वचन देते है कि हमारी सरकार आयी तो बाकी किसानों का भी 2 लाख  तक का कर्ज हम माफ करेंगे।हमने इतिहास में पहली बार डिफाल्टर नहीं चालू खाते का भी कर्ज माफ किया है।

 

यह भी पढ़े : कांग्रेस प्रत्याशी सतीश सिकरवार ने झांसी रोड और मुरार टीआई को हटाने की मांग की

 

इस अवसर पर नाथ ने कहा कि 15 वर्ष की भाजपा सरकार ने हमें कैसा प्रदेश सौंपा , जिसमें कई चुनौतियाँ थी।हम कृषि क्षेत्र में क्रांति लाना चाहते थे , किसानों को उनकी उपज का सही दाम दिलाना चाहते थे।हमारी 70% अर्थव्यवस्था कृषि आधारित है।हम किसानों की भलाई को पटरी पर ला रहे थे लेकिन हमारी सरकार को बीच में ही सौदेबाज़ी से गिरा दिया गया।

 

हमें गर्व हे कि देश की सीमा की रक्षा के लिये फ़ौज में ग्वालियर ,चंबल मुरैना और दिमनी के बड़ी संख्या में साथी हैं लेकिन भाजपा ने हमारे गर्व को भी शर्मसार कर दिया।मध्य प्रदेश को पूरे देश में बिकाऊ राजनीति के मामले में कलंकित कर दिया , ग्वालियर-चंबल जिस पर देश को गर्व होता था , उसे भी बदनाम करने का काम भाजपा ने किया।

 

आज युवाओं के सामने असली चुनौती है कि कैसे आगे आकर प्रजातंत्र और संविधान की रक्षा करें।
आज प्रदेश में जितने उद्योग लगते नहीं हैं , उससे ज़्यादा बंद हो जाते हैं।किसी को निवेश में विश्वास नहीं। शिवराज भले कहें कि जनता मेरी भगवान लेकिन उनका असली भगवान तो माफिया हैं।उज्जैन में शराब माफिया के कारण 14 लोगों की मृत्यु हो गई।प्रदेश की जनता ने इन्हीं सब कारणों से शिवराज को घर बैठाया था।

यह भी पढ़े : MP में अब तक के सबसे महंगे चुनाव ,3 करोड़ हर सीट पर खर्च

 

मै तो शिवराज जी से पूछना चाहता हूं ना 15 वर्ष आपने कुछ किया , ना वर्तमान 7 माह में कुछ किया तो फिर जनता अपना फैसला क्यों बदले ? शिवराज जी ने झूठे नारियल फोड़ दिये , झूठे शिलान्यास कर दिए ,झूठी घोषणाए कर दी , इनसे कोई कुछ भी बुलवा सकता है ,कोई भी घोषणा करवा सकता है लेकिन आज का नौजवान समझदार है , वह शिवराज की एक्टिंग को समझ गया है।अब एक्टर के साथ महाराजा भी है।

 

kamalnath

 

हमने 15 माह में अपने नीति का और नियत का परिचय दिया।इन्होंने हमे ऐसा प्रदेश सौंपा था जो किसानों की आत्महत्या ,महिलाओं पर अत्याचार ,भ्रष्टाचार ,बेरोजगारी में देश में नंबर वन था।हमारे सामने कृषि क्षेत्र में बड़ी चुनौती थी , किसानों को उनकी उपज का सही दाम नहीं मिल पा रहा था।किसान का जन्म कर्ज में होता है और उसकी मृत्यु भी क़र्ज़ में होती है ,हमने इस तस्वीर को बदलने का काम किया , आप सब इसके गवाह हैं।बाबासाहेब के संविधान के साथ भाजपा ने खिलवाड़ किया , प्रजातंत्र-संविधान को कुचलने का प्रयास किया , प्रदेश के नागरिकों पर उपचुनाव का बोझ डाला।

यह भी पढ़े :  मध्यप्रदेश में अब हर गोली पर होगा चलाने वाले का नाम, पता……. 

 

नाथ ने कहा कि कांग्रेस प्रत्याशी रविंद्र तोमर के भाई भूपेंद्र तोमर को मैंने अभी मंच पर देखा। किस प्रकार से उनके ऊपर ज़ुल्म व अत्याचार किया गया। मैं बीजेपी का बिल्ला जेब में रखकर घूमने वाले अधिकारियों को चेतावनी देना चाहता हूं कि वे याद रखें तीन के बाद चार भी आएगी।यह चुनाव जनता का है ,जनता की आवाज को आप दबा नहीं सकते। 3 नवंबर के बाद तंबू-टेंट सब उखड़ जाएंगे लेकिन हमारा नौजवान यही रहेगा ,किसान यही रहेगा और आपके साथ कमलनाथ भी यही रहेगा।
शिवराज जी समझ ले चंबल की माटी और यहाँ का पानी पीने वाले लोग बेहद समझदार होते हैं , आप के झांसे में आने वाले नहीं है।बहुत हो गई चंबल की उपेक्षा। एक तरफ एक्टर और उसके साथ महाराजा।

मैंने शुद्ध के खिलाफ युद्ध का अभियान चलाया , जिससे दूध के भाव बढ़े क्या यह मेरी गलती थी , गुनाह था ? मुझे प्रदेश की जनता पर विश्वास है कि वो प्रदेश का भविष्य सुरक्षित रखेगी।

 

मोबाइल पर खबर पाने के लिए यहाँ क्लिक करे  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here