मंत्री बनने और बंगला बचाने के लिए सिंधिया गए BJP में

0
554

इंदौर । कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मीडिया विभाग के प्रमुख जयराम रमेश ने केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पर जोरदार हमला बोला है। उन्होंने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया को कैबिनेट मंत्री बनना था। साथ ही दिल्ली में सफदरजंग वाला बंगला चाहिए था। इसी वजह से उन्होंने कांग्रेस छोड़ी और भाजपा में गए। बाकी बातें बेकार हैं। प्रधानमंत्री की नीयत और नीतियों के कारण देश टूटने की संभावना बढ़ रही है। राजनीतिक तानाशाही बढ़ रही है। इसके खिलाफ ही राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा निकाल रहे हैं।

 

 

जयराम रमेश भारत जोड़ो यात्रा में पदयात्री के तौर पर शामिल हुए हैं। यात्रा गुरुवार को नजरपुर पहुंची। वहां जयराम रमेश और मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री तरुण भनोत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान जयराम रमेश ने आरोप लगाया कि मध्यप्रदेश में यात्रा को दबाने की कोशिश की गई है। इंदौर में यात्रा के बैनर हटाए गए। पुलिस अफसरों से बहस हुई। इसके बाद भी यात्रा सफल रही। इंदौर छोड़कर अन्य जिलों में सड़कों की हालत बहुत खराब है। भनोत ने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार इन्वेस्टर्स समिट पर जनता की कमाई खर्च कर रही है, लेकिन सड़क, बिजली और पानी की व्यवस्था ही ठीक से नहीं है। मध्यप्रदेश पर तीन लाख करोड़ रुपये का कर्ज है। आखिर वह पैसा कहां खर्च हो रहा है?

 

 

जयराम रमेश ने कहा कि चार दिसंबर को यात्रा राजस्थान में प्रवेश करेगी।19 दिसंबर को अलवर में बड़ी आमसभा होगी। 24 दिसंबर को यात्रा दिल्ली पहुंचेगी। वहां चार-पांच दिन का विश्राम होगा। यात्रा में चल रहे कंटेनरों का रखरखाव किया जाएगा। उसके बाद भारत जोडो यात्रा उत्तरप्रदेश, हरियाणा, पंजाब होते हुए श्रीनगर पहुंचेगी। कोशिश है कि राहुल गांधी 26 जनवरी को श्रीनगर में तिरंगा फहराए। जयराम रमेश ने यह भी कहा कि हमसे कई बार पूछा जा रहा है कि यात्रा राजस्थान में जाएगी तो क्या होगा? वहां सचिन पायलेट और अशोक गहलोत एकजुट है। राजस्थान में यात्रा सफल होगी। सचिन अभी अहमदाबाद में चुनाव प्रचार कर रहे हैं। भाजपा भ्रम फैलाती है। पूरे देश में कांग्रेस एकजुट है और इस यात्रा से युवा कार्यकर्ताओं को नई ऊर्जा मिली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here