हाथरस में युवती के साथ गैंगरेप कर काटी जीभ, तोड़ी रीढ़ की हड्डी ताकि घर न जा पाए

0
73
Gangrape Culprit
Gangrape Culprit

हाथरस। यूपी के हाथरस में Gangrape की शिकार हुई बेटी की 15 दिन बाद दिल्ली के एम्स में मौत हो गई। बच्ची के साथ हैवानियत का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि दबंगों ने बारी-बारी से उसे अपनी हवस का शिकार बनाया। बेटी अपनी जुबान न खोल पाए इसलिए उसकी जुबान काट दी। चलकर अपने घर तक न जाए तो उसके रीढ़ की हड्डी तोड़ दी। इतनी हैवानियत के बाद भी वह आखिरी सांस तक जिंदगी के लिए जंग लड़ती रही।

इस मामले में पुलिस पर भी लापरवाही का आरोप लगा है।

सियासत तेज होने पर पुलिस ऐक्शन में आई।

ये भी पढ़े : मध्यप्रदेश में 3 नवम्बर को होगी वोटिंग, 10 नवम्बर को नतीज़े सामने आएंगे

Gangrape की घटना के बाद अस्पताल में भर्ती बेटी को 9 दिन बाद होश आया। होश में आने के बाद उसकी कटी जुबान से वह कुछ बोल न सकी। इशारों में अपने साथ हुई दरिंदगी बयां की।

बयान लेने पहुंचे सीओ ने बेटी के बयान को दो पन्नों में लिखा।

गैंगरेप के बाद काटी थी जीभ

बता दें कि यूपी के हाथरस के थाना चंदपा इलाके के गांव में 14 सितंबर को एक 19 साल की दलित युवती के साथ गांव के रहने वाले चार दबंग युवकों पर Gangrape का आरोप था। पीड़िता के साथ हैवानियत की गई थी। पुलिस के अनुसार, रेप के बाद उसकी जीभ भी काट दी गई थी।

जिसके बाद पीड़िता को अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था।

ये भी पढ़े : कांग्रेस ने जारी की अपने उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट

आरोपियों की पहचान हुई

आरोपियों की पहचान गांव के ही रहने वाले संदीप, लवकुश, रामू और रवि के रूप में हुई थी। हाथरस पुलिस अधीक्षक ने बताया कि संदीप को 14 सितंबर को ही गिरफ्तार कर लिया गया था। घटना के कई दिन बीत जाने के बाद पुलिस ने रामू और लवकुश को गिरफ्तार किया।

वहीं फरार आरोपी रवि को 26 सितंबर को पुलिस ने गिरफ्तार करते हुए जेल भेज दिया था।

ये भी पढ़े : कांग्रेस के अपने प्रतियासियो की पहली लिस्ट जारी, ग्वालियर से लड़ेंगे सुनील शर्मा

पुलिस पर लापरवाही का आरोप

हाथरस के थाना चंदपा इलाके के गांव में 14 सितंबर को चार दबंग युवकों ने 19 साल की दलित लड़की के साथ बाजरे के खेत में गैंगरेप किया था। इस मामले में पुलिस ने लापरवाही भरा रवैया अपनाया। रेप की धाराओं में केस ना दर्ज करते हुए छेड़खानी के आरोप में एक युवक को हिरासत में लिया।

इसके बाद उसके खिलाफ धारा 307 (हत्या की कोशिश) में मुकदमा दर्ज किया गया था।

ये भी पढ़े : Prime Minister Narendra Modi ने आज कृषि कानून, श्रम कानूनों का जिक्र किया

9 दिन बाद होश में आकर पीड़िता ने सुनाई आपबीती

घटना के 9 दिन बीत जाने के बाद पीड़िता होश में आई तो अपने साथ हुई आपबीती अपने परिजनों को बताई। बेटी की आपबीती सुनकर हर कोई दहल गया।

बात बाहर आई तो सियासत तेज हुई।

भीम आर्मी से लेकर बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने सरकार को निशाने पर लिया।

ये भी पढ़े : मुख्यमंत्री शिवराज करेंगे सांवेर का दौरा, नीलाभ शुक्ला ने कहा जनता बीजेपी को जवाब देगी

Daily Update के लिए अभी डाउनलोड करे : MP samacha का मोबाइल एप  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here