मध्यप्रदेश में 3 नवम्बर को होगी वोटिंग, 10 नवम्बर को नतीज़े सामने आएंगे

0
372
election commission
election commission

मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर By-election होने जा रहे है। चुनाव आयोग ने मंगलवार को घोषणा की है की, 3 नवंबर को उपचुनाव होना है, और 10 नवंबर को नतीजे सामने आ जायेंगे। अब देखना यह है कि कांग्रेस ने जिन 3 सीटों पर अभी अपने उम्मीदवारों  की घोषणा नहीं की है, उन सीटों पर किसको जगह मिलेगी। वैसे तो बीजेपी भी अपने उम्मीदवारों की लिस्ट बना चुकी है।

देखते है बीजेपी की फाइनल लिस्ट कब तक जारी हो पायेगी।

ये भी पढ़े : Prime Minister Narendra Modi ने आज कृषि कानून, श्रम कानूनों का जिक्र किया

चुवाव आयोग ने की तारीख की घोषणा 

चुनाव आयोग ने By-election की तारीख की घोषणा कर दी है। 3 नवंबर को वोटिंग और 10 नवंबर को नतीजों की घोषणा की गई है। इसी के साथ आचार संहिता भी लागू गई है। अब जल्द ही जिन सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा नहीं की गई है वो नाम सामने आ जायेंगे।

हम आपको बता दे 16 अक्टूबर तक नामांकन किये जा सकेंगे।

ये भी पढ़े : मुख्यमंत्री शिवराज करेंगे सांवेर का दौरा, नीलाभ शुक्ला ने कहा जनता बीजेपी को जवाब देगी

शिवराज करेंगे प्रधानमंत्री मोदी से बात 

शिवराज सिंह चौहान आज दिल्ली गए है वहां बीजेपी की फाइनल लिस्ट पर बात होगी।  हो सकता है आज शाम तक बीजेपी अपनी फाइनल लिस्ट जारी कर दे। शिवराज दिल्ली में बीजेपी उम्मीदवारों की लिस्ट को लेकर प्रधानमंत्री से मुलाकात करेंगे, और प्रधानमंत्री मोदी शिवराज से कृषि बिल के मध्यप्रदेश में असर पर भी बात करेंगे।

बीजेपी की मध्यप्रदेश में पकड़ से जुड़े सवाल भी पूछ सकते है।

ये भी पढ़े : कांग्रेस ने जारी की अपने उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट

आचार संहिता क्या है –

देश में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए चुनाव आयोग कुछ नियम बनाता है। चुनाव आयोग के इन्हीं नियमों को आचार संहिता कहते हैं। लोकसभा/विधानसभा चुनाव के दौरान इन नियमों का पालन करना चाहिए।

ये सरकार, नेता और राजनीतिक दलों की जिम्मेदारी होती है।

आचार संहिता के नियम –

चुनाव आचार संहिता लागू होने के बाद कई नियम भी लागू हो जाते हैं। इनकी अवहेलना कोई भी राजनीतिक दल या राजनेता नहीं कर सकता।  सार्वजनिक धन का इस्तेमाल किसी विशेष राजनीतिक दल या नेता को फायदा पहुंचाने वाले काम के लिए नहीं होगा।  सरकारी गाड़ी, सरकारी विमान या सरकारी बंगले का इस्तेमाल चुनाव प्रचार के लिए नहीं किया जायेगा। किसी भी राजनीतिक दल, प्रत्याशी, राजनेता या समर्थकों को रैली करने से पहले पुलिस से अनुमति लेनी होगी।

किसी भी तरह की सरकारी घोषणा, लोकार्पण और शिलान्यास आदि नहीं होगा।

किसी भी चुनावी रैली में धर्म या जाति के नाम पर वोट नहीं मांगे जाएंगे।

जानिए कहाँ कितनी सीटें –

 

list
 list
list
तारीख और नियम 
date - rules
date – rules
rules
rules

ये भी पढ़े : कांग्रेस के अपने प्रतियासियो की पहली लिस्ट जारी, ग्वालियर से लड़ेंगे सुनील शर्मा

Daily Update के लिए अभी डाउनलोड करे : MP samacha का मोबाइल एप  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here