उपचुनाव में किन्नर की दावेदारी ने बढ़ाई शिवराज-सिंधिया की टेंशन

0
293
neha kinnar, independent candidate
neha kinnar, independent candidate will fight election

भोपाल। मध्यप्रदेश में आगामी उपचुनाव (By-election) में एक बड़ा खुलासा हुआ है। जिससे यह कहा जा सकता है की पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान संग ज्योतिरादित्य सिंधिया की मुश्किलें बढ़ गई है। वैसे तो बीएसपी ने अपने सभी सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है। और साथ ही निर्दलीय विधायक भी मैदान में उतर चुके हैं। खबर तो ये भी है कि मुरैना की एक सीट पर एक किन्नर ने चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है।

जिसके बाद से कांग्रेस बीजेपी और बीएसपी सहित अन्य सभी दलों में हलचल मची हुई है।

ये भी पढ़े : आज मनाली पहुंच पीएम मोदी अटल टनल’का उद्घाटन करेंगे

अंबाह विधानसभा सीट पर किन्नर नेहा ने की दावेदारी

मुरैना जिले की अंबाह विधानसभा सीट से किन्नर नेहा ने अपनी दावेदारी पेश कर दी है। हम आपको बता दे नेहा 2018 में कांग्रेस प्रत्याशी कमलेश जाटव के विरुद्ध विधानसभा चुनाव में अपनी दावेदारी पेश कर चुकी है। उस दौरान वह कमलेश जाटव से महज साढ़े सात हजार वोटों से हारी थी। लेकिन अब खेल बदल चूका है। किन्नर नेहा की दावेदारी पेश करते ही चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है। जिससे बीजेपी उम्मीदवार कमलेश जाटव और कांग्रेस उम्मीदवार सत्यप्रकाश सखवार की मुश्किलें कड़ी हो गई है। क्योकि किन्नर नेहा बेड़िया समाज से ताल्लुक रखती हैं।

इस इलाके में बेड़िया समाज के मतदाताओं की संख्या अधिक है।

ये भी पढ़े : मध्यप्रदेश में 3 नवम्बर को होगी वोटिंग, 10 नवम्बर को नतीज़े सामने आएंगे

तीनों ही पार्टी को होगा नुकसान 

मुरैना जिले की अंबाह सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित सीटों में से एक हैं। अंबाह सीट से कांग्रेस के सत्यप्रकाश सखवार को, तो वहीं बीजेपी के संभावित उम्मीदवार कमलेश जाटव को और बीएसपी से भानूप्रताप सिंह सखवार को टिकट मिला है। किन्नर नेहा की इस सीट से दावेदारी के बाद साफ है कि कहीं न कहीं वोटों का ध्रुविकरण होगा।

जिससे नुकसान तीनों ही पार्टी को होगा।

ये भी पढ़े : PM नरेंद्र मोदी ने दुनिया की सबसे लंबी टनल का उद्घाटन किया

कमलेश कांग्रेस छोड़ बीजेपी में हुए शामिल 

कमलेश सिंधिया गुट के उन बागी उम्मीदवारों में से हैं जो कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हो चुके हैं। जिसके चलते इलाके में उन्हें भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है। जिसका फायदा कांग्रेस उम्मीदवार सत्यप्रकाश सखवार और किन्नर नेहा और बीएसपी के भानुप्रताप उठा सकते हैं। बता दें कि चुनाव आयोग ने तारीखों का ऐलान करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश की सभी 28 सीटों पर (By-election) के लिए 3 नवंबर को वोटिंग होगी।

10 नवंबर को नतीजे घोषित किए जाएंगे।

ये भी पढ़े : कमलनाथ ने BJP पर तंज कसते हुए कहा जिम्मेदार विपक्ष आज मौन क्यों है

Daily Update के लिए अभी डाउनलोड करे : MP samachar का मोबाइल एप  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here